नई दिल्ली. श्रीनिवासन के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को फटकार देते हुए कहा है कि वह श्रीनिवासन के मसले पर खुद फैसला करे, बार-बार कोर्ट का चक्कर काटने की ज़रुरत नहीं है. दरअसल बीसीसीआई ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका देकर पूछा था कि श्रीनिवासन बोर्ड की बैठकों में शामिल होना हितों का टकराव है या नहीं.
 
दरअसल, श्रीनिवासन का कहना है कि अब वह चेन्नई सुपरकिंग्स से नहीं जुड़े हैं, ऐसे में हितों का टकराव का मामला उन पर नहीं बनता. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मसले पर उसका फैसला बिल्कुल स्पष्ट है इसलिए बार-बार अदालत आने की जरूरत नहीं है.