नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित लोढ़ा कमिटी ने IPL से चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स पर 2 साल का बैन लगाया था. हालांकि विश्वस्त सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक चेन्नई और राजस्थान की टीमें फिलहाल टूर्नामेंट से बाहर नहीं की जा रही हैं. इन्हें आईपीएल में बरकरार रखने के लिए नए मैनेजमेंट का इंतजाम किया जाएगा.
 
मिली जानकारी के मुताबिक खिलाड़ियों के हितों का हवाला देते हुए IPL वर्किंग ग्रुप ने चेन्नई और राजस्थान की टीमों के लिए नया मैनेजमेंट खोजने की बात कही है. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि वर्किंग ग्रुप आईपीएल में दो नई टीमों को लाने के खिलाफ है. वर्किंग ग्रुप का मानना है कि 10 टीमें होने से मैचों की संख्या बढ़ेगी और खिलाड़ियों पर मैच का अधिक दबाव होगा.
 
आईपीएल वर्किंग ग्रुप को 28 अगस्त तक आईपीएल गवर्निंग काउंसिल और बीसीसीआई की वर्किंग कमेटी को अपनी रिपोर्ट सौंपनी है. दिलचस्प यह है कि प्रतिबंधित टीम चेन्नई औऱ राजस्थान के टीम मालिकों से ही नए मैनेजमेंट औऱ अधिकारियों के सुझाव मांगे जा सकते हैं. गौरतलब है कि लोढ़ा कमेटी ने भ्रष्टाचार के आरोप में चेन्नई औऱ राजस्थान की टीमों को दो-दो साल के लिए बैन किया था. साथ ही बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्पन और अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा पर ताउम्र बैन लगा था.