आगरा. भारतीय वनडे और टी-20 क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने पैराजम्पिंग में हाथ आजमाते हुए बुधवार को एएन-32 विमान से 1250 फुट की ऊंचाई से छलांग लगाई. आगरा के पैरा ट्रेनिंग स्कूल (पीटीएस) में प्रशिक्षण ले रहे भारतीय सेना में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल धौनी बुधवार सुबह करीब 7.0 बजे 1250 फुट की ऊंचाई से पैराशूट से कूदे. 
 
पत्रकारों को धौनी से बातचीत की इजाजत तो नहीं थी, हालांकि सेना के एक अधिकारी ने बताया कि धौनी की पहली जम्प पूरी तरह सफल रही. धौनी की एक झलक पाने के लिए आस-पास के गांव से लोगों की भीड़ जुट गई थी. धौनी को अभी चार बार और पैराजंपिग करनी है. इसके बाद ही उन्हें पैराजंपर का सर्टिफिकेट मिल सकेगा. 
 
कैसी रही पहली उड़ान?
महेंद्र सिंह धौनी बीते 13 दिनों से आगरा के पैरा ट्रेनिंग स्कूल में पैराजंपर बनने के लिए प्रशिक्षण ले रहे हैं. बीते दो दिनों से खराब मौसम के कारण धौनी की जंप टल रही थी. अधिकारियों के मुताबिक, बुधवार सुबह करीब 6.30 बजे उनकी छलांग प्रस्तावित थी, लेकिन पहले मौसम का जायजा लिया गया.
 
शुरुआत में एएन-32 विमान मलपुरा स्थित ड्रॉपिंग जोन में पहुंचा. हवा के दबाव की जांच के लिए वहां पहले एक-एक कर दो पैराजंपर कूदे. इसके बाद एएन-32 ने दोबारा चक्कर लगाया और धौनी ने अपनी पहली छलांग लगाई. पैराशूट बांधकर कूदे धौनी सफलतापूर्वक जमीन पर उतर गए. एहतियात के तौर पर धौनी के पीछे करीब दर्जन भर जंपरों ने भी छलांग लगाई.
 
IANS