चेन्नई. सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (176) और मनीष पांडेय (नाबाद 108) के शानदार शतकों की मदद से भारत-ए टीम ने दक्षिण अफ्रीका-ए को 34 रनों से हरा दिया. इसके साथ ही भारतीय टीम फाइनल में स्थान सुरक्षित किया. भारत-ए से मिले 372 रनों के विशाल लक्ष्य के जवाब में दक्षिण अफ्रीका-ए ने बेहतरीन संघर्ष किया. टीम हालांकि तमाम प्रयासों के बाद निर्धारित 50 ओवरों में छह विकेट गंवाकर 337 रन ही बना सकी. 
 
लक्ष्य का पीछा करते हुए क्विंटन डी कॉक (113) ने जहां दक्षिण अफ्रीका को बेहतरीन शुरुआत दिलाई, वहीं रीजा हेंड्रिक्स (76) और खाया जोंडो (86) ने आखिरी ओवरों में आतिशी बल्लेबाजी कर मैच को रोमांचक बना दिया. डी कॉक ने अपनी शतकीय पारी में 86 गेंदों का सामना कर 10 चौके और छह छक्के लगाए. भारत के लिए अक्षर ने सर्वाधिक तीन विकेट चटकाए.
 
इससे पहले, टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को इस सीरीज में दूसरा शतक लगाने वाले अग्रवाल और कप्तान उन्मुक्त चंद (64) ने बेहतरीन शुरुआत दिलाई. दोनों बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 106 रनों की साझेदारी की. केशव महाराज की गेंद पर चंद पगबाधा हो पवेलियन लौटे. इसके बाद मयंक का साथ देने आए मनीष ने दूसरे विकेट के लिए 8.45 के औसत से ताबड़तोड़ 203 रन जोड़ डाले.
 
दोनों बल्लेबाजों ने आतिशी अंदाज में अपने-अपने शतक पूरे किए. मयंक ने 133 गेंदों की अपनी पारी में 20 चौके और पांच छक्के लगाए.  मनीष 85 गेंदों की अपनी शानदार पारी में आठ चौके और दो छक्के लगाकर अंत तक नाबाद रहे. लीग चरण के इस आखिरी मैच से चार अंक हासिल कर भारत-ए अंक तालिका में दूसरे स्थान पर रहा.  भारतीय टीम अब फाइनल में आस्ट्रेलिया-ए से भिड़ेगी.