चेन्नई: पांच वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए ऑस्ट्रेलिया के सामने जीत के लिए 282 रनों का लक्ष्य दिया है. भारतीय टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 281 रन बना सकी. मैच में भारतीय टीम की शुरुआत बेहद निराशाजनक रही.
 
87 रन के स्कोर पर टीम के पांच बल्लेबाज पवेलियन लौट चुके थे. टीम को पहला झटका 11 रन के स्कोर पर अजिंक्य रहाणे के रूप में लगा था. इसके बाद एक के बाद एक विकेट गिरते चले हैं. पांच विकेट गिरने के बाद टीम पूरी तरह से लड़खड़ा गई थी. लेकिन महेंद्र सिंह धोनी और हार्दिक पांड्या ने समझदारी से बैटिंग करते हुए टीम का स्कोर आगे बढ़ाया.
 
 
सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए पांड्या और धोनी के बीच 118 रनों की शतकीय साझेदारी हुई. हार्दिक पांड्या ने अच्छी बल्लेबाजी करते हुए 66 बॉल में 83 रनों की पारी खेली. जिसमें 5 चौके और इतने ही छक्के शामिल हैं. दूसरे छोर पर धोनी एक बार फिर टीम इंडिया के संकट मोचन साबित हुए. धोनी ने 88 गेंद में 79 रनों की पारी खेली, जिसमें 4 चौके और 2 छक्के शामिल हैं. 
 
भारतीय टीम के केवल दो बल्लेबाज ही 50 रनों का आंकड़ा पार कर पाए. ओपनर अजिंक्य रहाणे ने 5, रोहित शर्मा 28, विराट कोहली शून्य, मनीष पांडे शून्य, केदार जाधव 40, भुनेश्वर कुमार नाबाद 32 और कुलदीप यादव ने शून्य के स्कोर पर नाबाद रहे.
 
 
ऑस्ट्रेलिया की बात करे तो नॉथन कल्टर ने 10 ओवर में 44 रन देकर 3 विकेट झटके. जबकि मर्कस ने 10 ओवर में 54 रन देकर 2 विकेट झटके. वहीं जेम्स फकनर और एडम जंपा ने 10-10 ओवर की गेंदबाजी में एक-एक विकेट झटके.