नई दिल्ली. भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने कोल्ड ड्रिंक पेप्सी और फेयरनेस क्रीम जैसे प्रोडक्ट्स का प्रचार करने से इनकार कर दिया है. इसकी वजह ये है कि विराट को लगता है कि ऐसे प्रोडक्ट्स जंक फूड और नस्लवाद को बढ़ावा देते हैं.
 
विराट अब समाजिक सरोकार से जुड़े उत्पादों का ही प्रचार करेंगे. टीम के कप्तान ने फैसला लिया है कि वह सिर्फ उन्हीं प्रोडक्ट्स का विज्ञापन करेंगे जिससे वह खुद को जोड़ सकें. जिसका यूज वो खुद भी कर सकें.
 
 
28 वर्षीय कप्तान विराट कोहली के इस फैसले का लोग खूब सराहना कर रहे हैं. इस विषय पर कोहली के विज्ञापनों को मैनेज करने वाली संस्था ने इस मुद्दे पर कुछ भी कहने से मना कर दिया है. लेकिन मीडिया की खबरों की माने तो अब विराट कोहली इन प्रोडक्ट्स की ऐड नहीं करेंगे. 
 
 
बता दें विराट के इस फैसले का बड़ा असर पेप्सी पर पड़ेगा, जिसका प्रचार वह 2011 से कर रहे थे. पेप्सी के साथ विराट का करार इस साल अप्रैल में खत्म हुआ जिसके बाद विराट ने कहा था कि वह लोगों से ऐसे उत्पाद का सेवन करने के लिये नहीं कह सकते जो वह खुद नहीं लेते हैं.