नई दिल्ली. आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी के ई-मेल के कारण सुरेश रैना टीम इंडिया के कप्तान नहीं बन पाए. जिम्बाब्वे दौरे के लिए चयनकर्ताओं की पहली पसंद रैना थे लेकिन मोदी के ई-मेल में नाम होने की वजह से उनकी जगह अजिंक्य रहाणे को कैप्टनशिप दी गई. बीसीसीआई के एक सीनियर  अधिकारी की दखल के बाद रैना को ‘आराम’ दिया गया और रहाणे कप्तान बन गए. 

अंग्रेजी अखबार ‘इंडियन एक्सप्रेस’ ने यह दावा किया है. हालांकि बीसीसीआई ने इस खबर को सिरे से खारिज किया है. आपको बता दें कि टीम इंडिया के सिलेक्टर्स 29 जून को जिम्बाब्वे के लिए टीम चुनने के लिए इकट्ठे हुए थे. इससे दो दिन पहले ही ललित मोदी द्वारा आईसीसी सीईओ डेविड रिचर्डसन को लिखा मेल सार्वजनिक हो गया. 

ललित मोदी के एक ट्विट से सुरेश रैना, रविंद्र जडेजा और ड्वेन ब्रावो पर मैच फिक्सिंग का आरोप गहरा गया है. ट्विटर पर श्याम स्वामी नाम के एकाउंट से मोदी के द्वारा आईसीसी सीईओ डेविड रिचर्डसन को जून, 2013 में लिखी एक चिट्ठी पोस्ट की गई है जिसमें मोदी ने रिचर्डसन से शिकायत की थी कि सुरेश रैना, रवींद्र जडेजा और ड्वेन ब्रावो बुकी बाबा दीवान से संपर्क में हैं इसलिए बाबा पर नजर रखी जाए.

वहीं मोदी के आरोपों को खारिज करते हुए भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने कहा था कि वह पूर्व आईपीएल आयुक्त ललित मोदी पर कानूनी कार्रवाई करने पर विचार कर रहे हैं और वह कभी किसी तरह के गलत कामों में शामिल नहीं रहे.

क्या लिखा है मोदी ने चिट्ठी में ?

20 जून, 2013 को ललित मोदी ने डेविड रिचर्डसन को मेल लिखा था- “मुझे अभी कुछ सूचना मिली है जो मैं आप तक पहुंचा रहा हूं. अगर आपको ठीक लगे तो आप इसे आईसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक एजेंसी ACSU को भेज सकते हैं. मुझे पता चला है कि तीन खिलाड़ी रवींद्र जडेजा, ड्वेन ब्रावो और सुरेश रैना रियल एस्टेट टायकून बाबा दीवान (HDIL) के साथ गहरे संपर्क में हैं. बाबा दीवान बहुत बड़े सट्टेबाज हैं. मैंने दीवान को किसी भी आईपीएल टीम की बोली में हिस्सा लेने से रोक दिया था. दीवान राज कुंद्रा और गुरु (गुरुनाथ मयप्पन) का भी दोस्त है.”

“मुझे भरोसेमंद सूत्रों से पता चला है कि दीवान ने इन तीनों खिलाड़ियों को अलग-अलग 20 करोड़ रुपए तक कैश या सामान दिया है. सुरेश रैना को दिल्ली के वसंत विहार और नोएडा में फ्लैट जबकि रवींद्र जडेजा को मुंबई में समंदर के किनारे बांद्रा में बन एचडीआईएल की नई बिल्डिंग में फ्लैट दिया गया है. वहीं, ड्वेन ब्रावो को कैश मिला है.”

“मनाता हूं कि ये सूचना गलत हो. लेकिन यह सूचना सही है तो इसका मतलब है कि और भी शामिल हैं इसलिए बाबा पर कड़ी नजर रखनी चाहिए. बाबा एक मैच पर 10 से 20 मिलियन डॉलर तक का सट्टा लगाने के लिए जाना जाता है.”