हरारे. मार्टिन गुप्टिल (नाबाद 116) और टॉम लाथम (नाबाद 110) की शानदार शतकीय पारियों की बदौलत न्यूजीलैंड ने जिम्बाब्वे को 10 विकेट से मात दे दी. न्यूजीलैंड के लिए गुप्टिल और लाथम ने पहले विकेट के लिए दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी निभाते हुए जिम्बाब्वे से मिले 236 रनों के लक्ष्य को बिना कोई विकेट गंवाए 42.2 ओवरों में हासिल कर लिया.

गुप्टिल, लाथम को संयुक्त रूप से मैन ऑफ द मैच चुना गया. लक्ष्य का पीछा करते हुए बिना विकेट गंवाए यह सबसे बड़ी जीत का रिकार्ड है. इससे पहले का रिकॉर्ड श्रीलंका के नाम था जिसने 2011 वर्ल्ड कप के क्वार्टर फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ 231 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 10 विकेट से जीत दर्ज की थी.

एकदिवसीय करियर में 4,000 रन पूरे करने वाले न्यूजीलैंड के 10वें बल्लेबाज गुप्टिल ने 138 गेंदों में 11 चौके और एक छक्का लगाया, जबकि करियर की पहली शतकीय पारी में लाथम ने सात चौके और दो छक्के लगाए. इससे पहले टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी जिम्बाब्वे टीम ने रजा की नाबाद शतकीय पारी की बदौलत नौ विकेट पर 235 रन बनाए.

इसके साथ ही न्यूजीलैंड ने तीन मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर कर ली. जिम्बाब्वे पहला मैच जीतने में सफल रहा था. अब दोनों टीमें सात अगस्त को इसी मैदान पर श्रृंखला का आखिरी निर्णायक मैच खेलेंगी.