लंदन: हर प्लेयर की ईच्छा रहती है कि जब वो गेम से विदा ले तो उसके मनमाफिक विदाई मिले. लेकिन दुनिया के सबसे तेज धावक उसैन बोल्ट के साथ उल्टा हो गया. लंदन में चल रही विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में शनिवार को जब वह चार गुणा चार सौ मीटर की रेस में दौड़ने उतरे तो दुनिया भर की नजरें उन पर टिकी हुई थीं.
 
लेकिन उसैन बोल्ट ने अपने करियर की ये आखिरी रेस पूरी नहीं कर सके. अंतिम रेस उनके लिए अच्छी साबित नहीं हुई. रेस के दौरान दौड़ते-दौड़ते उसैन बोल्ट के पैर में अचानक क्रैंप आ गया और वह ट्रैक पर गिर पड़े. दुनिया के सबसे तेज धावक के ट्रैक पर गिरते ही पूरा स्टेडियम शांत पड़ गया. उसैन बोल्ट ने हर प्रयास किए लेकिन सारा प्रयास असफल रहा और वे अपने करियर की अंतिम रेस हार गए. 
 
 
बोल्ट इतने निराश दिखे कि घुटने के बल बैठ गए और सिर को हाथों से पकड़ लिया. काफी देर तक वो अकेली ही ट्रैक पर बैठे रहे. चार गुणा चार सौ मीटर की स्पर्धा का स्वर्ण पदक ग्रेट ब्रिटेन ने 37.47 सेकंड के साथ जीता. रजत पदक पर अमेरिका ने 37.52 सेकंड के साथ हासिल किया. जापान 38.04 सेकंड के साथ कांस्य पदक पर कब्जा जमाने में सफल रहा. जमैका वह नहीं कर सका.
 
 
बोल्ट के साथ उनकी टीम में ओमार मैक्लॉड, जूलियन फोर्ट और योहान ब्लैक शामिल थे. मालूम हो कि 100 मीटर के विश्व रिकॉर्ड धारी और आठ ओलंपिक पदक विजेता बोल्ट को अपनी पिछली रेस में इसी प्रतियोगिता में 100 मीटर में जस्टिस गेटलिन से हार का सामना करना पड़ा था