नई दिल्ली: क्रिकेट प्रशासक समिति (COA) के पूर्व सदस्य रामचंद्र गुहा ने एक बार फिर अपना गुस्सा जाहिर किया है. राहुल द्रविड़ और जहीर खान की नियुक्ति को रोके जाने को गुहा ने सार्वजनिक अपमान करार दिया है.
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) ने रवि शास्त्री को टीम इंडिया का मुख्य कोच बनाने के साथ ही पूर्व गेंदबाज जहीर खान को टीम इंडिया का गेंदबाजी कोच नियुक्त किया था. इसके अलावा राहुल द्रविड़ को टीम इंडिया के विदेश दौरों के लिए बल्लेबाजी कोच नियुक्त किया था. हालांकि जहीर खान और राहुल द्रविड़ की नियुक्ति को अभी रोक दिया गया है.
 
 
जिस पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए गुहा ने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि पहले अनिल कुंबले और अब जहीर खान और राहुल द्रविड़ का अपमान किया गया है. उन्होंने कहा कि कुंबले, द्रविड़ और जहीर खेल के दूत हैं. उनके साथ इस तरह का बर्ताव करना उनका सार्वजनिक अपमान है. वो इसके हकदार नहीं है.
 
बता दें कि गुहा की यह टिप्पणी तब आई है जब सीएओ ने शनिवार को रवि शास्त्री को मुख्य कोच नियुक्त कर दिया. लेकिन राहुल द्रविड़ और जहीर खान की नियुक्ति रोके रखी है. कोच रवि शास्त्री के कोच पद पर चुने जाने के साथ ही राहुल और जहीर की नियुक्ति का भी ऐलान किया गया था.