नई दिल्ली. आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने एस श्रीसंत और अंकित चव्हाण को बरी कर दिया है. लेकिन बीसीसीआई उन्हें राहत नहीं देगी.

IPL स्पॉट फिक्सिंग: श्रीसंत, चंदेला व अंकित बरी

शनिवार को बयान जारी करते हुए बीसीसीआई ने कहा कि इसकी कोई भी अनुशासनात्मक कार्रवाई या फैसला किसी भी आपराधिक अभियोजन से अलग है और उसका कोई प्रभाव इस पर नहीं होगा. बीसीसीआई के फैसले उसकी स्वतंत्र अनुशासनात्मक कार्रवाई पर निर्भर है और वे यथावत रहेंगे. स्पॉट फिक्सिंग में नाम आने पर श्रीसंत और अंकित चव्हाण पर बोर्ड ने आजीवन बैन लगाया था जबकि चंदीला के मामले की सुनवाई जारी है.