हरारे. भारतीय क्रिकेट टीम ने मंगलवार को तीसरे एकदिवसीय मुकाबले में जिम्बाब्वे को 83 रनों से हराकर सीरीज अपने नाम कर लिया है. भारत से मिले 277 रनों के चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का पीछा करते हुए जिम्बाब्वे की पूरी टीम 42.4 ओवरों में 193 रन बनाकर ढेर हो गई.

नाबाद शतकीय पारी खेलने वाले केदार जाधव (नाबाद 105) को मैन ऑफ द मैच और श्रृंखला के शुरुआती दो मैचों में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले अंबाती रायडू को प्लेयर ऑफ सीरीज चुना गया.  मंगलवार को जिम्बाब्वे के लिए सिर्फ चामू चिभाभा (82) ही बल्ले से संघर्ष कर सके. चिभाभा ने रेगिस चकाब्वा (27) के साथ दूसरे विकेट के लिए 70 रनों की और रिचमंड मुतुंबमी (22) के साथ चौथे विकेट के लिए 53 रनों की साझेदारी कर टीम को संभाले रखा. 37वें ओवर की दूसरी गेंद पर चिभाभा का विकेट गिरते ही जिम्बाब्वे का संघर्ष भी समाप्त हो गया. चिभाभा के जाने के बाद अगले छह ओवरों में जिम्बाब्वे ने 33 रन और बनाने में अपने शेष पांच विकेट भी गंवा दिए.

भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने बेहद कसी हुई गेंदबाजी करते हुए छह ओवरों में मात्र 12 रन दिए, हालांकि वह कोई विकेट हासिल नहीं कर सके. स्टुअर्ट बिन्नी ने सर्वाधिक तीन विकेट चटकाए, जबकि मोहित शर्मा, हरभजन सिंह और अक्षर पटेल ने दो-दो विकेट हासिल किए. इससे पहले हरारे में आखिरी वनडे में केदार जाधव के पहले शतक और मनीष पांडे के पहले अर्द्धशतक के दम पर भारत ने जिम्बाब्वे के सामने 277 रन का लक्ष्य रखा. केदार ने नाबाद 105 रन बनाए जबकि पांडे ने 71 रनों का योगदान दिया. दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 144 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी की. इन दोनों की बेहतरीन बल्लेबाजी की बदौलत टीम इंडिया ने 50 ओवरों में पांच विकेट खोकर 276 रन बनाए.

IANS