नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट का आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग और सट्टेबाजी जांच आयोग 14 जुलाई को राजस्थान रॉयल्स, चेन्नई सुपर किंग्स सहित बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्पन और अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा के खिलाफ सज़ा सुनाएगा.

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस आर.एम. लोढ़ा की अध्यक्षता वाले तीन सदस्यीय आयोग में रिटायर्ड जस्टिस अशोक भान और जस्टिस आर.वी. रवींद्रन सदस्य हैं. सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल जनवरी में मयप्पन, कुंद्रा समेत चेन्नई और राजस्थान की आईपीएल टीम को दोषी करार दिया था.

सुप्रीम कोर्ट ने 22 जनवरी, 2015 को अपना फैसला सुनाते वक्त ही जस्टिस लोढ़ा आयोग का गठन किया था जिसे दोषियों को सज़ा तय करने और बीसीसीआई के संविधान को ठीक करने का काम सौंपा था.

माना जा रहा है कि 14 जुलाई को आयोग की तरफ से जब फैसला सुनाया जाएगा तो बीसीसीआई के साथ-साथ क्रिकेट प्रशासन की दुनिया में भूकंप आ सकता है. इस फैसले पर मयप्पन और कुंद्रा के साथ-साथ चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स टीम की भी नज़र टिकी हुई है.