एंटवर्प. हॉकी वर्ल्ड लीग (एचडब्ल्यूएल) सेमीफाइनल के तीसरे-चौथे स्थान के लिए हुए मैच में रविवार को भारतीय सीनियर पुरुष हॉकी टीम ब्रिटेन के हाथों 1-5 से पिट गई. भारत के लिए मैच का एकमात्र सांत्वना गोल आखिरी मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर पर रुपिंदर पाल सिंह ने किया.

पहले क्वार्टर में दोनों ओर से जोरदार हमले किए गए और भारतीय गोलकीपर पी. आर. श्रीजेश ने दो अच्छे बचाव भी किए. हालांकि 11वें मिनट में ब्रिटेन अपना पहला पेनाल्टी कॉर्नर हासिल करने में सफल रहा, जिसे एलिस्टर ब्रोगटॉन ने गोल में बदल ब्रिटेन को 1-0 की बढ़त दिला दी. क्रिस ग्रिफिथ ने फील्ड गोल के जरिए ब्रिटेन के लिए दूसरा गोल किया, जिसकी बदौलत ब्रिटेन की मध्यांतर तक बढ़त 2-0 हो गई.

तीसरा क्वार्टर भारत के लिए और भी खराब रहा. एश्ले जैक्सन ने 37वें मिनट में तेज पलटवार करते हुए तीसरा शानदार गोल कर दिया. 40वें मिनट में ब्रिटेन को दो पेनाल्टी कॉर्नर मिले. श्रीजेश ने पहले पेनाल्टी को तो बचा लिया, लेकिन 42वें मिनट में एडम डिक्सन दूसरे पेनाल्टी को गोल में तब्दील करने में कामयाब रहे. इस गोल के साथ ब्रिटेन की बढ़त 4-0 हो गई. मात्र दो मिनट बाद बैरी मिडलटन ने तेज काउंटर अटैक कर ब्रिटेन का पांचवां गोल दाग दिया. (IANS)