मेलबर्न. ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड नवंबर में एडिलेड ओवल में पहली बार दूधिया रोशनी में गुलाबी गेंद के साथ दिन-रात्रि क्रिकेट टेस्ट मैच में हिस्सा लेंगे. अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने दिन-रात का टेस्ट मैच खेलने का ऐतिहासिक निर्णय लेने के लिए आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड को बधाई दी है. दोनों देशों के बीच 27 नवंबर से एक दिसंबर के बीच पहली बार दिन-रात के टेस्ट मैच में हिस्सा लेंगे.

आईसीसी ने आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका में गुलाबी गेंद का सफलतापूर्वक प्रयोग होने के बाद 2012 में दिन-रात के टेस्ट मैच को मान्यता दे दी. मई में मुंबई में हुई आईसीसी की कार्यसमिति की बैठक में एक बार फिर सदस्य देशों को कृत्रिम रोशनी में टेस्ट खेलने के लिए प्रोत्साहित किया गया. 

आईसीसी के सीईओ डेविड रिचर्डसन ने इसे अपनाने के पीछे सबसे बड़ी वजह टेस्ट देखने अधिक से अधिक दर्शकों को स्टेडियम तक लाने के लिए आकर्षित करना बताई. रिचर्डसन ने कहा कि यह श्रृंखला गुलाबी गेंद से खेली जाने वाली दिन-रात की प्रायोगिक श्रृंखला होगी.