मीरपुर. भारत ने बुधवार को तीसरे और आखिरी एकदिवसीय मैच में बांग्लादेश को 77 रनों से हरा दिया. हालांकि शुरुआती दो मैच जीतकर बांग्लादेश पहले ही सीरीज पर कब्जा जमा चुकी है. भारत से मिले 318 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए बांग्लादेश की पूरी टीम 47 ओवरों में 240 रनों पर ढेर हो गई.

21 गेंदों में 38 रनों की तेज तर्रार पारी खेलने के बाद सर्वाधिक तीन विकेट चटकाने वाले सुरेश रैना को मैन ऑफ द मैच चुना गया, जबकि श्रृंखला में 13 विकेट चटकाने वाले और बांग्लादेश की जीत में सबसे अहम भूमिका निभाने वाले मुस्ताफिजुर रहमान को प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया.

बांग्लादेश की ओर से आज कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका. बांग्लादेश की तरफ से सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर सब्बिर रहमान का रहा जिन्होंने 43 रन की पारी खेली. बांग्लादेश की ओर से सौम्य सरकार ने 40 रन, लिट्टन दास ने 34 रन, नासिर हुसैन 32 रन और मुश्फिकर रहीम ने 24 रन की व्यक्तिगत पारी खेली. 

29 रन बनाकर आउट हुए रोहित
टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी भारतीय टीम को पहला झटका रोहित शर्मा के रूप में लगा. उन्हें मुस्तफिजुर ने विकेटकीपर लिट्टन दास के हाथों कैच आउट कराया. रोहित ने 29 बॉल पर 2 चौके और एक छक्का की मदद से 29 रन बनाए. इसके बाद विराट कोहली (25) को शाकिब अल हसन ने बोल्ड कर भारत को दूसरा झटका दिया. विराट और रोहित के आउट होने के बाद शिखर धवन और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने तीसरे विकेट के लिए 44 रन की साझेदारी करते हुए टीम इंडिया को संभाल लिया.

75 रन बनाकर आउट हुए शिखर
धवन ने शानदार बैटिंग करते हुए 50 बॉल में हाफ सेन्चुरी पूरी की. यह साझेदारी सफल होते दिख रही थी कि इस बीच शिखर धवन (75) के रूप में भारत को तीसरा झटका लगा. उन्हें मुर्तजा ने आउट किया. धवन ने 73 बॉल में 10 चौके लगाए.  इसके बाद बैटिंग करने आए रायुडू (44) अंपायर के गलत फैसले का शिकार हुए। मुर्तजा की बॉल उनके पैड पर लगकर और लिट्टन के ग्लव्स में समा गई। खिलाड़ियों की अपील पर अंपायर ने आउट करार दिया. एमएस धोनी (69) को मशरफे मुर्तजा ने मुस्तफिजुर के हाथों कैच कराया. धोनी ने 58 गेंदों में वनडे करियर की 59वीं हाफ सेन्चुरी पूरी की.

जडेजा-भुवनेश्वर की जगह बिन्नी-उमेश
इससे पहले बांग्लादेश ने भारत के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बॉलिंग करने का फैसला किया. भारतीय टीम में दो बदलाव हुए. रवींद्र जडेजा और भुवनेश्वर कुमार की जगह स्टुअर्ट बिन्नी और उमेश यादव को प्लेइंग इलेवन में रखा गया. वहीं बांग्लादेश की टीम में तस्कीन अहमद की जगह अराफात सनी को जगह मिली. बता दें कि दो बार के वर्ल्ड चैम्पियन भारत को लगातार दो मैचों में हराकर सीरीज अपने नाम कर चुकी मेजबान टीम की कोशिश मजबूत पड़ोसी का सूपड़ा साफ करने की होगी. दूसरी ओर, भारत एक अदद जीत के लिए प्रयास करेगा। भारत के लिए यह मैच सम्मान बचाने जैसा होगा. भारत पहली बार बांग्लादेश से किसी सीरीज में हारा है.