नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने टीम इंडिया का ज़िंबाब्वे दौरा रद्द कर दिया है. बोर्ड ने दौरा रद्द करने की सबसे बड़ी वजह खिलाड़ियों का थका होना बताया है. हालांकि ये बात किसी से छुपी नहीं है कि बीसीसीआई और सीरीज़ का प्रसारण करने वाली कंपनी टेन स्पोर्ट्स के बीच विवाद है. उधर पूर्व भारतीय कप्तान बिशन सिंह बेदी ने कहा है कि महेंद्र सिंह धौनी अब कैप्टन कूल नहीं रहे और इस मुश्किल दौर से उबरने के लिए उन्हें योग करना चाहिए.

दौरे का रद्द होना खड़े करता है कई सवाल
10 जुलाई से टीम इंडिया का ज़िंबाब्वे दौरा शुरू होना था, जिनमें 3 वनडे और दो टी-20 मैच खेले जाने थे. सीरीज़ रद्द होने से सबसे ज्यादा राहत टीम इंडिया के खिलाड़ियों को मिलेगी, जो पिछले एक साल से नॉन-स्टॉप क्रिकेट खेल रहे हैं. सवाल है कि अगर बोर्ड को थकान की वजह से सीरीज़ रद्द करना था, तो फिर ज़िंबाब्वे क्रिकेट बोर्ड को दौरे का एलान करने से क्यों नहीं रोका गया? कुछ दिन पहले ज़िंबाब्वे क्रिकेट बोर्ड ने प्रेस रिलीज़ जारी कर सीरीज़ पर मुहर लगाई थी.

BCCI और टेन स्पोर्ट्स के बीच फंसा मामला
दूसरी तरफ़ बीसीसीआई और टेन स्पोर्ट्स के बीच विवाद का समय पर निपटारा नहीं होने के चलते भारत-ज़िंबाब्वे दौरा रद्द होने का अटकलें लगाई जा रही थी. टेन स्पोर्ट्स, ज़ी मीडिया ग्रुप का हिस्सा है और आईसीएल नाम से T20 क्रिकेट लीग चलाती रही है, जो बीसीसीआई की इंडियन प्रीमियर लीग से टकराती रही है. हाल के दिनों में दोबारा से ज़ी T20 लीग शुरू करने की कोशिश में है, जो बीसीसीआई को नागवार गुजरी है. माना जा रहा है कि बोर्ड इस वजह से टेन स्पोर्ट्स के साथ किसी भी तरीके का बिज़नेस करना नहीं चाहती.

एजेंसी इनपुट भी