एडिलेड. वर्ल्ड कप से ऑस्ट्रेलिया के हाथों मिली हार के बाद पाकिस्तानी टीम के तीन सीनियर प्लेयर्स ने संन्यास ले लिया. शाहिद आफरीदी और वर्तमान कप्तान मिस्बाह उल हक ने पहले ही वर्ल्ड कप के बाद संन्यास लेने की घोषणा कर चुके थे. पाकिस्तान क्रिकेट के बड़े नामों में से एक मिस्बाह को पाक टीम की सबसे लंबे वक्त कप्तानी करने का सौभाग्य प्राप्त है. 40 साल के मिस्बाह ने अपना पहला वन डे साल 2002 में खेला था. उन्होंने अब तक 161 वनडे मैचों में 43.48 की औसत से 5,088 रन बनाए हैं. उन्होंने वनडे में कोई शतक नहीं लगाया हो, लेकिन 42 अर्धशतक जड़े है.

1996 में करियर शुरू करने वाले विस्फोटक बल्लेबाज शाहिद अफरीदी ने 397 वनडे मैचों में 116.92 के स्ट्राइक रेट से 8041 रन बनाए हैं. इसके अलावा टीम में नियमित गेंदबाज के तौर पर स्थापित हो चुके अफरीदी ने 395 विकेट भी चटकाया है. 

पाक के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाजों में शुमार यूनुस खान ने 264 वनडे मैचों में 31.34 की औसत से 7,240 रन बनाए हैं. उन्होंने वनडे में सात शतक और 48 अर्धशतक जड़े हैं. 37 साल के यूनुस ने अपने वनडे करियर की शुरुआत साल 2000 में श्रीलंका के खिलाफ की थी.