नई दिल्ली. बीसीसीआई और लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को लागू करने में जारी गतिरोध के बीच सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सोमवार को सुरक्षित रख लिया है. साथ ही कोर्ट ने बीसीसीआई को फटकार लगाते हुए कहा है कि बीसीसीआई जल्द कमेटी की सिफारिशों को लागू करें. वहीं कमेटी की सिफारिशों को लेकर सोमवार को बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा भी दायर किया है.
 
 
बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर का कहना है कि लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को लागू करने के लिए बहुमत नहीं था. अभी ये मामला कोर्ट में है और इसपर कुछ नहीं बोला जा सकता. सभी राज्यों से इस बारे में पूछा जाएगा कि वो लोढ़ा कमिटी की सिफारिशों को मानने के लिए तैयार हैं या नहीं. जब जरूरी तीन चौथाई बहुमत मिल जाएगा तो लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को लागू किया जाएगा. बिना इसके सिफारिशें लागू नहीं हो सकती है. 
 
 
ठाकुर ने इस बात से मना किया है कि उन्होंने आईसीसी सीईओ शशांक मनोहर से यह कहने को कहा था कि बीसीसीआई के कामकाज में लोढ़ा समिति की सिफारिशें सरकारी दखल के समान हैं. सात अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट से मिले निर्देशों के बाद ठाकुर ने सोमवार को निजी हलफनामा दाखिल किया.