इंदौर. टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को हराकर सीरीज पर 3-0 से कब्जा कर लिया है. भारत की इस जीत के पीछे स्पिन गेंदबाज में आर. अश्निन रहे हैं. अश्विन ने इस मैच की पहली पारी में 6 विकेट चटकाए थे. वहीं दूसरी पारी में भी उनके खाते में 7 विकेट आए.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
अश्विन ने टेस्ट करियर में 21 वीं बार पांच या उससे ज्यादा विकेट लेने का करिश्मा किया है. इस रिकॉर्ड के साथ ही वह क्लेरी ग्रिमेट, सिडनी बर्न्‍स और श्रीलंका के महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन जैसे महान स्पिनरों के साथ शामिल हो गए हैं.  

वहीं इस पूरी  सीरीज में आर. अश्विन ने अकेले 27 विकेट चटकाए हैं. इंदौर में टेस्ट में 13 विेकेट लेने पर उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया है. वहीं पूरी सीरीज में शानदार गेंदबाजी के लिए मैन ऑफ द सीरीज भी चुना गया है.

अश्विन हैं तो जीत की गारंटी
अभी तक देखा गया है जिस टेस्ट, वनडे या टी-20 के जिस मैच में आर.अश्विन ने विकेट चटकाए हैं उनमें भारत की जीत हुई है. अगर बात करें आर अश्विन के रिकॉर्ड की तो 39 टेस्ट मैचों में वह 220, वनडे में 142 और 45 टी-20 में 42 विकेट ले चुके हैं. 

बल्लेबाजी में भी महारत
अश्विन सिर्फ स्पिन गेंदबाज ही नहीं है वह बल्लेबाजी भी कर लेते हैं. वेस्टइंडीज में कप्तान विराट कोहली ने जब बल्लेबाजी के लिए ऊपर भेजा तो उन्होंने 2 शतक भी लगा दिए. उनकी क्षमताओं को देखते हुए माना जा रहा है कि भविष्य में वह महान ऑलराउंडर भी बन सकते हैं.

कम उम्र में बड़ी उपलब्धि
कानपुर टेस्ट में उन्होंने पहली पारी में 4 और दूसरी में 6 विकेट चटकाए थे. इसके बाद वह डेनिस लिली और वकार यूनुस को पीछे छोड़ते हुए टेस्ट मैच में 200 विकेट लेने वाले दूसरे नंबर के गेंदबाज बन गए.