चंडीगढ़. हरियाणा सरकार ने पहलवान नरसिंह यादव के डोप मामले की जांच सीबीआइ कराने का फैसला किया है. हरियाणा सरकार ने इसके लिए केंद्र सरकार को सिफारिशी पत्र भेज दिया है. मामले से जुड़े दस्तावेज भी सौंप दिए गए हैं.  
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि पहलवान नरसिंह यादव ने 28 जुलाई 2016 को सोनीपत जिले के राई पुलिस थाने में शिकायत दी थी कि सोनीपत स्थित साई के सेंटर के हॉस्टल में वह रुका था और उस दौरान कैंटीन की मेस में उसके खाने में किसी ने कुछ मिला दिया था और इस कारण डोप टेस्ट में उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. जिसके चलते नाडा ने उनपर प्रतिबंध लगा दिया था.
 
नरसिंह का यह भी कहना था कि यह गड़बड़ी सिर्फ इसलिए की गई ताकि वह ओलंपिक में हिस्सा नहीं ले सके. डोप मामले की जांच के बाद नाडा ने उनपर प्रतिबंध लगा दिया था. हालांकि उन्हें रियो में जाने की अनुमति तो मिली. लेकिन रियो में नरसिंह ने खेल पंचाट के सामने ये दलील रखी थी कि उनके खिलाफ साजिश रची गई है. धोखे से किसी ने उनके खाने में कुछ मिला दिया था. पर वाडा ने उनकी इस दलील को नहीं माना था और उनपर बैन लगा दिया था.