मेलबर्न. मौजूदा चैम्पियन भारतीय टीम ने मेलबर्न क्रिकेट मैदान (एमसीजी) पर गुरुवार को जारी आईसीसी विश्व कप2015 के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में बांग्लादेश के सामने 303 रनों का लक्ष्य रखा है. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने वाली भारतीय टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में छह विकेट पर 302 रन बनाए.उसके लिए रोहित शर्मा ने 137 रनों की पारी खेली.इसके अलावा सुरेश रैना ने 65, शिखर धवन ने 30 रन बनाए. विराट कोहली (9) और अजिंक्य रहाणे (19) ने निराश किया.

भारत का छठा विकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के रूप में 49वें ओवर की आखिरी गेंद पर गिरा था, जब उन्हें छह रन के निजी स्कोर पर तसकीन अहमद की गेंद पर नासिर हुसैन ने कैच आउट किया. उससे कुछ ही देर पहले, तसकीन अहमद को एक ऐसा कारनामा करने का सौभाग्य मिला था, जिसका इंतज़ार काफी देर से उनकी टीम कर रही थी, लेकिन तब तक भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा शानदार शतक के रूप में टीम इंडिया को बेहद महत्वपूर्ण योगदान दे चुके थे. मात्र 126 गेंदों में 14 चौकों और तीन छक्कों की मदद से बनाए 137 रनों के निजी योग पर तसकीन की गेंद पर क्लीन बोल्ड होने से पहले, एक वक्त पर लड़खड़ाती दिखने लगी भारतीय पारी को संवारने का काम रोहित ने किया.

इससे पहले, टीम इंडिया का चौथा विकेट अर्द्धशतकवीर सुरेश रैना का गिरा था, जिन्होंने 57 गेंदों में सात चौकों और एक छक्के की मदद से 65 रन बनाने के साथ-साथ चौथे विकेट के लिए रोहित के साथ 122 रनों की महत्वपूर्ण साझीदारी की, और फिर मशरफे मुर्तजा की गेंद पर विकेट के पीछे मुशफिकुर रहीम को कैच थमाया. अब कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का साथ देने के लिए रवींद्र जडेजा मैदान में आए हैं, और टीम के स्कोरबोर्ड पर 47.3 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 278 रन दिखाई दे रहे हैं. इससे पहले, रोहित-रैना भगीरथ प्रयत्नों से बांग्लादेश के खिलाफ भारतीय पारी काफी हद तक संभल गई थी। रोहित ने अपने वन-डे करियर के सातवें शतक के लिए 108 गेंदें खेंलीं और 10 चौकों के अलावा एक शानदार छक्का भी लगाया, जबकि रैना ने करियर के 35वें अर्द्धशतक के लिए 46 गेंदों का सामना किया, और इस दौरान पांच चौके और एक छक्का लगाया.

इससे पहले, बांग्लादेश के खिलाफ भारतीय टीम ने सधी शुरुआत की थी, लेकिन 17वें और 18वें ओवर में जल्दी-जल्दी शिखर धवन और विराट कोहली आउट हो गए. उसके बाद रोहित शर्मा ने संभलकर खेलते हुए अपना अर्द्धशतक पूरा किया ही था कि तभी उनका साथ दे रहे अजिंक्य रहाणे भी 28वें ओवर में पैवेलियन लौट गए. रहाणे को तसकीन अहमद की गेंद पर शाकिब अल हसन ने कैच किया था. रोहित शर्मा ने अपने अर्द्धशतक के लिए पांच चौके और एक छक्का लगाया था, और उससे पहले वह शिखर धवन के साथ पहले विकेट के लिए 75, दूसरे विकेट के लिए विराट कोहली के साथ 4 और तीसरे विकेट के लिए अजिंक्य रहाणे के साथ 36 रनों की पार्टनरशिप कर चुके थे.

इससे पहले, बांग्लादेश के खिलाफ बेहद सधी हुई शुरुआत करते हुए टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाजों ने पहले 15 ओवर में नई गेंद की चमक तो कुंद कर दी थी, लेकिन उसके बाद जल्दी-जल्दी दो विकेट गिर गए थे. पहले पारी के 17वें ओवर की तीसरी गेंद पर शिखर धवन स्टंप कर दिए गए, और फिर सिर्फ आठ ही गेंद के बाद विराट कोहली भी चलते बने. शिखर धवन पारी के 17वें ओवर में 50 गेंदों का सामना कर तीन चौकों की मदद से बनाए 30 रन के निजी स्कोर पर शाकिब अल हसन की गेंद पर आगे बढ़कर खेलने के चक्कर में विकेटकीपर मुशफिकुर रहीम के हाथों स्टंप किए गए, और उसके बाद उपकप्तान विराट कोहली मैदान में आए, लेकिन वह कुल आठ गेंदों का सामना कर तीन रन बनाने के बाद रुबेल हुसैन की गेंद पर विकेट के पीछे लपके गए.

इससे पहले, आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2015 के दूसरे क्वार्टर फाइनल मुकाबले में टीम इंडिया ने बांग्लादेश के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए धीमा, लेकिन सधा हुआ खेल दिखाया और सलामी बल्लेबाजों रोहित शर्मा तथा शिखर धवन ने पहले 15 ओवर में स्कोरबोर्ड पर 72 रन जोड़े। दोनों बल्लेबाजों की सावधानी की मिसाल इस तथ्य से समझी जा सकती है कि 4.50 की औसत से खेलते हुए उन्होंने कुल मिलाकर सात चौके और सिर्फ एक छक्का ठोका.