नई दिल्ली. स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (साई) ने रियो ओलंपिक पर अपनी रिपोर्ट से सभी को चौंका दिया है. साई ने  रिपोर्ट में कहा है कि रियो ओलंपिक के लिए अधिकतर अयोग्य और अस्वस्थ खिलाड़ियों को खेलों में हिस्सा लेने के लिए भेजा गया. रिपोर्ट के अनुसार भारतीय ओलंपिक बेड़े में शामिल अधिकतर खिलाड़ी ओलंपिक जैसे बड़े आयोजनों के लिए तैयार नहीं थे, जिनमें से कुछ पूरी तरह से स्वस्थ नहीं थे. उनको फर्जी रिपोर्ट के आधार पर रियो भेजा गया था. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार रियो में भारतीय एथलीटों के द्वारा निराशाजनक प्रदर्शन को लेकर स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने जो रिपोर्ट सौंपी है. उसमें कहा गया है कि रियो ओलिंपिक में हिस्सा लेने वाले कुछ भारतीय एथलीट्स फिट ही नहीं थे. एथलीटों की फिटनेस को लेकर मॉनिटरिंग ठीक ने नहीं की गई थी. खेलों के दौरान बैडमिंटन स्टार खिलाड़ी साइना नेहवाल घुटने की चोट से परेशान थीं. ये सनसनीखेज रिपोर्ट साई के निदेशक इन्जेती श्रीनिवास ने बनाई है. 
 
  
बता दें कि रियो ओलंपिक में भारत का प्रदर्शन शर्मनाक निराशाजनक रहा. भारतीय ओलंपिक बेड़े के 119 एथलीटों में से 117 एथलीट खाली हाथ देश लौंटे. सिर्फ महिला पहलवान साक्षी मलिक और शटलर पीवी सिंधु ने पदक जीतक देश का मान मर्दन होने से बचाया.