रियो डी जेनेरियो. 36 साल बाद क्वार्टर फाइनल का मुकाबला खेल रही भारतीय टीम आज 1-3 के स्कोर से हारकर ओलंपिक से बाहर हो गयी. भारतीय हॉकी टीम का क्वार्टर फाइनल मुकाबला आज बेल्जियम से था. हाफ टाइम तक भारत 1-0 से आगे था लेकिन वह अपनी बढ़त को कायम नहीं रख पाया. भारत की ओर से एकमात्र गोल आकाशदीप सिंह ने ही किया. वहीं  बेल्जियम की ओर से सेबेस्टीन डॉकियर ने दो और टॉम बून ने एक गोल किया.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

 
पहले क्वार्टर से ही बेल्जियम आक्रामक मूड में दिखी. हालांकि भारतीय रक्षापंक्ति आक्रमण को नाकाम करने में कामयाब रही. शुरूआती पलों में भारत ने भी मूव बनाया लेकिन बेल्जियम के गोलकीपर ने बचाव कर लिया. इसके बाद 14वें मिनट पर भारतीय गोलपोस्ट पर आक्रमण किया लेकिन कप्तान श्रीजेश ने शानदार बचाव किया. वहीं अगले ही पल आकाशदीप ने शानदार फील्ड गोल करके भारत को बढ़त दिला दी.
 
स्कोर में बढ़त बना कर दूसरे क्वार्टर की शुरुआत भारतीय टीम ने आक्रमण के साथ की. दूसरे क्वार्टर में दोनों ही टीमें लगातार हमले करती रही. मैच के 22वें मिनट पर बेल्जियम के जीरोम ट्रूयेन्स ने गोल करने की कोशिश की लेकिन सफलता नहीं मिली. इसके बाद भारत ने 23वें मिनट में आकाशदीप सिंह और रमनदीप सिंह की जोड़ी ने भारत की ओर से शानदार मूव बनाया लेकिन आकाशदीप गोल नहीं कर पाए.
 
कई कोशिशों के बाद भी जब दूसरे क्वार्टर में कोई टीम गोल ना कर सकी तो तीसरे क्वार्टर में बेल्जियम टीम ने हमले से शुरुआत की. हालांकि श्रीजेश बराबर भारतीय गोलपोस्ट की रक्षा करते रहे. इसके बाद मैच के 34वें मिनट में सेबेस्टीन डॉकियर ने  फील्ड गोल करके टीम को बराबरी पर ला दिया. इसके बाद तीसरे क्वार्टर के अंतिम मिनट में  बेल्जियम ने फील्ड गोल करके स्कोर 2-1 कर दिया. 
 
तीसरे क्वार्टर में भारत से बढ़त बना चुका बेल्जियम चौथे क्वार्टर में बहुत आगे निकल गया जब 50वें मिनट में टॉम बून ने फील्ड गोल कर 3-1 से बढ़त बना ली. इसके बाद मैच के 53वें मिनट में आकाशदीप ने बेल्जियम के गोलपोस्ट की ओर शॉट लगाया लेकिन गोलकीपर ने बचा लिया.