रियो डि जिनेरियो. भारत के खेल मंत्री विजय गोयल और उनके दल का पास ओलंपिक के आयोजकों की तरफ से रद्द किया जा सकता है. खेल मंत्री विजय गोयल के साथ आए स्टाफ पर ‘आक्रामक और असभ्य’ व्यवहार करने का आरोप है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
स्टाफ के इस तरह के गैरजिम्मेदाराना रवैये से गुस्साये रियो ओलंपिक आयोजकों ने चेतावनी दी है कि अगर उनके साथ गये लोगों ने अपना ‘आक्रामक और असभ्य’ व्यवहार बंद नहीं किया तो उनका पास कार्ड रद्द किया जा सकता है.
 
रियो 2016 आयोजन समिति की प्रबंधक सारा पीटरसन ने भारतीय दल के प्रमुख राकेश गुप्ता को पत्र लिखकर कहा है, ‘हमें आपके खेल मंत्री की कई रिपोर्ट मिली हैं. ओलंपिक स्थलों रिस्ट्रिक्टेड एरिया में वे लोग भी घुसने की कोशिश कर रहे हैं जिनके पास पास कार्ड नहीं हैं. जब स्टाफ ने उन्हें यह बताने की कोशिश की कि इसकी अनुमति नहीं है तो मंत्री के साथ लोगों ने आक्रामक और असभ्य व्यवहार करना शुरू कर दिया और कभी कभार उन्होंने हमारे स्टाफ को धक्का भी देने की कोशिश की.’
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
रियो में गोयल भारतीय दल का उत्साह बढ़ाने के लिये मौजूद हैं, इसके अलावा वह खेल गांव में उनकी जरूरतों की भी निगरानी कर रहे हैं. सारा ने लिखा है- ‘आप समझ सकते हैं कि इस तरह के व्यवहार हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. पिछली चेतावनियों के बावजूद गुरुवार को भी भारतीय स्टाफ ने इसी तरह की अभद्रता की है.