रियो डी जेनेरियो. आज भारतीय महिला हॉकी टीम का मैच  ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ था. जिसमे 6-1 के बड़े फांसले से ऑस्ट्रेलिया ने जीत दर्ज की. 36 साल के बाद मैदान में उतरीं भारतीय महिला हॉकी खिलाड़ी पूरे मैच के  दौरान बुरी तरह जूझती दिखीं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इससे पहले अपने दूसरे मैच में भारतीय टीम को ब्रिटेन के खिलाफ 3-0 से हार का मुंह देखना पड़ा था. हालांकि 6-0 की शर्मनाक हार की ओर बढ रही भारतीय टीम की नाक को अनुराधा थोकचोम ने आखरी 8 सेकेंड्स में एक गोल कर कुछ बचा लिया. 
 
शुरूआती पांचवे मिनट पर ऑस्ट्रेलिया की तरफ से पहला गोल कैथरीन स्लैट्री ने किया. इसके ठीक चार मिनट बाद जार्जिया मोर्गेना  ने स्कोर को दोगुना कर दिया. यह दोनो ही गोल पैनल्टी कॉर्नर से हुए. 
 
दूसरे क्वाटर के खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया 2-0 से आगे थी. इसके बाद 35वें मिनट में जेन क्लैक्सटोन ने गोल कर स्कोर 3-0 और 36वें मिनट में जोर्जिना पार्कर ने एक और गोल कर भारत को 4-0 से पीछे कर दिया।
 
इसी बीच आस्ट्रेलिया को 43वें मिनट में पेनाल्टी मिली जिस  जॉडी केनी गोल में बदल दिया. अब ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 5-0 हो गया. चौथे क्वार्टर में आस्ट्रेलिया को फिर पेनाल्टी कॉर्नर मिला जिसे केनी ने गोल में तब्दील कर स्कोर 6-0 कर दिया। 6-0 की शर्मनाक हार की ओर बढ रही भारतीय टीम की नाक को अनुराधा थोकचोम ने आखरी 8 सेकेंड्स में एक गोल कर कुछ बचा लिया.