रियो डी जेनेरियो. 36 साल बाद आज ओलंपिक में  भारतीय महिला हॉकी टीम जापान के खिलाफ मैदान में उतरी. मैच 2-2 के स्कोर के साथ ड्रा रहा. भारत से रानी रामपाल और लिलिम मिंज ने एक एक गोल दागा जबकि एमी निशिकोरी और मिए नाकाशिमा ने जापान की ओर से पहले हाफ में गोल किए. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
निशिकोरी ने 15वें मिनट में गोल दागकर 1-0 से बढ़त बनाई और फिर 28वें मिनट में नाकाशिमा ने गोल कर बढ़त को दोगुना कर दिया.  इसके बाद ऐसा लगने लगा था कि भारतीय टीम की ओलिंपिक में वापसी हार के साथ होगी लेकिन दूसरे हाफ में  भारतीय महिला खिलाडियों की ओर से भी कमाल का खेल देखने को मिला.
 
31वें मिनट में रानी रामपाल  ने गोल कर स्कोर 1-2 किया. इसके बाद 40वें मिनट पर  लिलिमा ने गोल कर स्कोर 2-2 से बराबर कर दिया. भारत की गोलकीपर सविता ने बेशक पहले हाफ में दो गोल दिए लेकिन दूसरे हाफ में वह कई शानदार गोल बचाने में कामयाब रही. आज भारतीय टीम को चार पेनल्टी कॉर्नर मिले. इससे पहले दोनों टीमों के बीच 15 मुकाबले ड्रा चुके हैं. 
 
बता दें कि भारतीय महिला हॉकी टीम 36 साल के लंबे समय के बाद ओलिंपिक के लिए क्वालिफाय कर पाई थी. साल 1980 के मॉस्को ओलंपिक के बाद आज जापान के साथ भिड़ंत हुई थी.