नई दिल्ली. कैरेबियाई गेंदबाज़ों को हिंदुस्तानी बल्लों से पिटाई वाली यादों को अपने जेहन से उतार लीजिए क्योंकि कैरेबियाई टीम में आ गया है वो गेंदबाज़ जो कत्लेआम मचाने में विश्वास रखता है. 19 साल के अलज़ारी जोसेफ को दूसरे टेस्ट के लिए टीम में जगह दी गई है. बता दें कि टीम इंडिया और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा टेस्ट जमैका में खेला जाएगा.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सबाइना पार्क की पिच कैरेबियाई क्रिकेट में सबसे तेज मानी जाती है. अलज़ारी जोसेफ टीम इंडिया के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं. अलजारी जोसेफ पहले से ही अपनी तेज गेंदबाज़ी के लिए मशहूर रहे हैं. अंडर-19 वर्ल्ड कप में जोसेफ ने टूर्नामेंट की सबसे तेज गेंद 146.4 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से फेंकी थी.
 
उस टूर्नामेंट में जोसेफ ने खेले 6 मैचों में 3.31 की इकॉनोमी से 13 विकेट लिए थे. फाइनल मुकाबले में भारत के शुरुआती तीनों विकेट भी जोसेफ के ही खाते में गए थे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
पहले जोसेफ ने अंडर-19 वर्ल्ड कप में पहचान बनाई और फिर कैरेबियन क्रिकेट लीग में गदर मचाकर सलेक्टर्स का ध्यान अपनी और खींचा. वैसे टीम इंडिया के सामने सबसे बड़ी दिक्कत नए खिलाड़ियों का खेलना है. ब्रेट ली, मुस्तफिज़ुर रहमान और अंजता मेंडिस इसके उदाहरण है, इन सभी ने भारत के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत की थी और हिंदुस्तानी बल्लेबाज़ों की कलई खोल दी थी. इंडिया न्यूज के शो रनयुद्ध में देखिए ‘जमैका की जंग में लाल रंग’