नई दिल्ली. साई सेंटर सोनीपत में रियो ओलंपिक की तैयारी में जुटे दो पहलवानों नरसिंह यादव और उसके रुममेट संदीप के डोप टेस्ट में फेल हो जाने से देश सकते में है. नरसिंह यादव के बाद संदीप के भी डोप टेस्ट में नाकाम होने पर भारतीय कुश्ती संघ ने साजिश की आशंका जताई है. डब्ल्यूएफआई के सहायक सचिव विनोद तोमर का कहना है कि शिविर में नरसिंह के साथी के भी सैंपल में एक ही प्रकार के स्टीरॉयड मिला है. जिससे ये साफ जाहिर होता है कि दोनों के खिलाफ कोई साजिश हुई हैं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
विनोद तोमर ने कहा कि दोनों पहलवानों के दोनों नमूने में स्टीरॉयड की मात्रा काफी ज्यादा मिली है, जिस पर यकीन करना मुश्किल है. तोमर ने सवाल करते हुए कहा कि कोई पहलवान जान बूझकर इतनी ज्य़ादा स्टीराइड क्यों लेगा. जबकि वो ओलंपिक में देश को रिप्रजेंट करने जा रहा है.  
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि नाडा के महानिदेशक नवीन अग्रवाल ने रविवार को बताया कि नरसिंह के बी नमूने में भी प्रतिबंधित स्टेरायड की ज्यादा मात्रा पाई गई. वो रविवार को नाडा की अनुशासन पैनल के सामने पेश हुआ था.  इस दौरान नरसिंह ने खुद को बेकसूर बताया और कहा कि ये उनके खिलाफ साजिश है. साथ ही नरसिंह ने दावा किया कि उन्होंने कभी कोई प्रतिबंधित पदार्थ नहीं ली है.