ऩई दिल्ली. ICC ने LBW से जुड़े अंपायरों के फैसलों पर डीआरएस से संबंधित नियमों में बदलाव को हरी झंडी दे दी है. कहा जा रहा है कि इस फैसले से गेंदबाजों को फायदा मिल सकता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आईसीसी चेयरमैन शशांक मनोहर की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह फैसला लिया गया. इस बैठक के बाद आईसीसी की और दिए गए एक बयान में कहा गया कि क्रिकेट को ओलंपिक खेल बनाने की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट समिति की योजना पर को भी आगे बढ़ाने पर बातचीत हुई.
 
LBW के नियम
आईसीसी ने LBW पर अंपायर के फैसले से संबंधित डीआरएस पर कहा कि यदि LBW से संबंधित मैदानी अंपायर का फैसला बदला जाता है तो अब गेंद का आधा हिस्सा स्टंप के क्षेत्र में होना चाहिए जो कि ऑफ और लेग स्टंप के बाहर की सीमा भी होगी. इससे पहले गेंद का आधा हिस्सा ऑफ और लेग स्टंप के बीच में होना जरूरी होता था. आईसीसी ने कहा कि यह संशोधन एक अक्तूबर से या फिर इस तिथि से ठीक पहले शुरू होने वाली उस सीरीज में लागू होगी जिसमें डीआरएस होगा.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
नोबॉल के नियम
नए नियम के मुताबिक नोबॉल का फैसला तीसरे अंपायर के हाथ में होगा. इसका ट्रायल अगले कुछ महीनों में किया जा सकता है. यह ट्रायल आगामी वन-डे सीरीज के दौरान किया जा सकता है.