मुंबई. इंडियन क्रिकेट टीम के मुख्य कोच की चयन प्रक्रिया जारी है. इस बीच भारतीय एकदिवसिय टीम के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कहा कि कोच को भारतीय खेल संस्कृति के बारे में पता होना चाहिए. साथ ही कप्तानी के मुद्दे पर धोनी ने कहा कि मैं अभी खेल का आनंद ले रहा हूं, कप्तानी पर फैसला बीसीसीआई को करना है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बीसीसीआई ने पिछले सप्ताह टीम के मुख्य कोच पद के लिए विज्ञापन दिया था. पद के लिए आवेदन देने के लिए अंतिम तारीख 10 जून रखी गई है. बीसीसीआई की कोशिश ऐसा कोच तलाशने की है जिसको हिन्दी भाषा का ज्ञान हो, हालांकि यह कोई शर्त नहीं है. धोनी ने भी बोर्ड से सहमति जताते हुए कहा कि नए कोच को भारतीय संस्कृति का ज्ञान होना चाहिए.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
धोनी ने लालचंद राजपूत, ग्रैग चैपल, गैरी कर्स्टन और डंकन फ्लेचर जैसे प्रशिक्षकों के साथ काम किया है. इन सभी के अलावा भारतीय कप्तान ने मार्च-अप्रैल में खेले गए टी-20 विश्व कप तक रवि शास्त्री के साथ भी काम किया है. शास्त्री डायरेक्टर के तौर टीम के साथ जुड़े थे. टीम के कोच पद के लिए चयन समिति के चेयरमैन संदीप पाटील और टीम के पूर्व निदेशक रवि शास्त्री ने भी आवेदन किया है.