धर्मशाला. 19 मार्च को धर्मशाला में होने वाले भारत-पाकिस्तान वर्ल्ड टी-20 मैच से पहले सुरक्षा का जायज़ा लेने के लिए पाकिस्तान से दो सदस्यीय टीम भारत पहुंच गई है. अट्टा री-वागाह बॉर्डर के रास्ते भारत पहुंच चुकी यह टीम धर्मशाला पहुंच कर सुरक्षा इंतज़ामों का जायज़ा लेगी.

इस दल की अध्यक्षता पाकिस्तानी संघीय जांच एजेंसी के निदेशक उस्मान अनवर करेंगे, साथ ही इसमें पीसीबी के एक अधिकारी शामिल हैं. नई दिल्ली में पाकिस्तानी दूतावास से एक राजनयिक भी इसके साथ जुड़ेंगे.

इस सुरक्षा दल की रिपोर्ट के बाद ही पाकिस्तानी पुरुष और महिला टीमों को भारत में खेलने के लिए भेजा जाएगा. इस बात की जानकारी पहले ही पाकिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्री चौधरी निसार अली खान दे चुके हैं.

पाकिस्तान के धर्मशाला में मैच को लेकर पूर्व सैनिकों ने अपना विरोध जताया है. इसके अलावा इस मैच के खिलाफ़ प्रदर्शन भी किए गए हैंय एंटी टेररिस्ट फ्रंट नाम की एक संस्था ने मैच से पहले पिच खोदने की बात कही है.

वहीं राज्य के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने सुरक्षा देने की बात तो मानी लेकिन यह भी कहा कि पुलिस बल आर्मी के पूर्व सिपाहियों को नहीं रोकेगा और उन पर लाठीचार्ज नहीं करेगा. ऐसे में बातचीत का दौर लगातार जारी है और बीसीसीआई की तरफ़ से अनुराग ठाकुर और राजीव शुक्ला ने बातचीत के ज़रिए इसे सुलझाने की बात कही है.

बुधवार को पाकिस्तान की महिला टीम को भारत के लिए रवाना होना है लेकिन अब इस सुरक्षा दल की मंज़ूरी देने के बाद ही टीमों को भारत आने की हरी झण्डी दी जाएगी.