क्राइस्टचर्च. न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मैक्लम ने अपने आखिरी टेस्ट में नया रिकॉर्ड बनाकर उसे यादगार बना दिया है.  मैक्लम ने शनिवार को क्राइस्टचर्च में ऑस्ट्रेलिया के साथ चल रहे दूसरे टेस्ट मैच में 54 गेंदों में 100 रन बनाकर टेस्ट में अब तक का सबसे तेज शतक बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है.  उनका यह 101वां और अंतिम टेस्ट मैच था. 
 
इससे पहले यह रिकॉर्ड संयुक्त रूप से वेस्टइंडीज के विवियन रिचर्ड्स और पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक़ के नाम था जिन्होंने 56 गेंदों में 100 रन बनाए थे.  रिचर्डस ने यह रिकॉर्ड 1985-86 में इग्लैंड के खिलाफ बनाया था और मिस्बाह ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ साल 2014-15 में बनाया था.
 
मैक्लम जब मैदान में उतरे थे तब तक उनकी टीम मात्र 32 रनों के साथ तीन विकेट खो चुकी थी. उन्होनें अपना अर्धशतक 34 गेंदों में पूरा किया, फिर अगली 20 गेंदों में उन्होनें ताबड़तोड़ पारी खेलते हुए इतिहास रच दिया. मैक्लम 6 छक्को और 4 चौको की मदद से 79 गेंदों में 145 रन बनाकर आउट हुए. जब वे आउट हुए तब उनकी टीम 5 विकेट के नुकसान के साथ 253 रनों पर थी, लेकिन तब तक मैक्लम ने टीम को मुसीबत से निकाल दिया था. पूरी टीम 370 का सम्मानजनक स्कोर बनाकर आउट हुई.
 
मैक्लम ने एडम गिलक्रिस्ट के 100 छक्को का रिकॉर्ड तोड़ते हुए टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा छक्को का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया.  न्यूजीलैंड के इस बल्लेबाज के नाम अब तक 106 छक्के हैं. टेस्ट मैच की एक और पारी अभी बाकी है, मतलब मैक्लम के पास और नए रिकॉर्डस अपने नाम करने का एक मौका अभी शेष है.
 
भारत में टेस्ट मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड कपिल देव के नाम है. कपिल ने श्रीलंका के खिलाफ साल 1986-87 में 74 गेंदों में शतक लगाया था.