मीरपुर. अंडर-19 वर्ल्ड कप के सेमीफ़ाइनल मुकाबले में 268 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम 170 रन पर ऑलआउट हो गई. इस प्रकार भारत ने उसे 97 रन से हराकर भारत फाइनल में जगह बना ली.

भारत की ओर से मयंक डागर ने 5.4 ओवर में 21 रन देकर तीन विकेट झटके, वहीं तेज गेंदबाज अवेश खान ने अपना फॉर्म जारी रखते हुए 9 ओवर में 41 देकर दो विकेट अपने नाम किए.

श्रीलंका की शुरुआत खराब रही और पहले ही ओवर में अवेश खान ने डल्ब्यूआईए फर्नांडो को 4 रन के निजी स्कोर पर एलबीडब्ल्यू आउट कर पैवेलियन भेज दिया. इसके बाद अवेश खान की ही गेंद पर डब्ल्यूएमके बंडारा दो रन बनाकर रनआउट हो गए. केआईसी असालांका को 6 रन के स्कोर पर बाथम की गेंद पर लोमरोर ने कैच आउट कर दिया.

श्रीलंका ने चौथा विकेट मेंडिस के रूप में गंवाया. मयंक डागर ने पीएच केडी मेंडिस को 39 रन पर आउट किया. पांचवां विकेट एस अशान के रूप में गिरा. जो 38 रन बनाकर रन आउट हुए. श्रीलंका का छठा विकेट विशाद रंदिका के रूप में गिरा. उन्हें अवेश खान ने विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच कराया.

इससे पहले इस अंडर 19 के सेमीफ़ाइनल मुकाबले में खराब और धीमी शुरुआत के बावजूद भारत ने श्रीलंका के खिलाफ़ जीत के लिए 268 रनों का मज़बूत स्कोर रख दिया है.

भारतीय टीम की शुरुआत ठीक नहीं रही और 27 रन के भीतर ही सलामी बल्लेबाज ऋषभ पंत और कप्तान ईशान किशन आउट हो गए, लेकिन इसके बाद सरफ़राज़ खान और अनमोलप्रीत की जोड़ी ने भारत की पारी को संभाला और फिर संवारा.

दोनों में से सरफ़राज़ ज्यादा खुल कर खेल रहे थे. उन्होंने 6 चौके और 1 छक्का लगाया और 59 रनों की बेहद उपयोगी पारी खेली. आउट होने से पहले वो 21 ओवरों में अनमोलप्रीत के साथ 96 रनों की साझेदारी निभा चुके थे. सरफराज़ के आउट होने के बाद अनमोलप्रीत रंग में आए और वॉशिंगटन सुंदर के साथ चौथे विकेट के लिए 70 रन जोड़ दिए.

अनमोलप्रीत ने 72 रनों की लाजवाब पारी खेली, जिसमें 6 चौके और 1 छक्का शामिल था. भारत के निचले मध्यक्रम ने भी निराश नहीं किया और आखिर के ओवरों में खुलकर बल्लेबाज़ी की. सुंदर ने 43 और अरमान जाफ़र ने 16 गेंदों में 29 रन बनाकर भारत के स्कोर को 250 के पार पहुंचाया.