चेन्नई. चेन्नई सुपर किंग्स ने शनिवार को एमए चिदंबरम स्टेडियम में हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आठवें संस्करण के 24वें मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को 97 रनों से हरा दिया. रनों के लिहाज से आईपीएल में अपनी इस सबसे बड़ी जीत के साथ सुपर किंग्स छह मैचों में 10 अंक हासिल कर अंक तालिका में शीर्ष पर पहुंच गए.

सुपर किंग्स से मिले 193 रनों के चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का पीछा करते हुए किंग्स इलेवन टीम निर्धारित 20 ओवरों में नौ विकेट खोकर मात्र 95 रन बना सकी. 44 गेंदों में आठ चौके और तीन छक्कों की मदद से 66 रनों की बेजोड़ पारी खेलने वाले ब्रेंडन मैक्‍कुलम को मैन ऑफ द मैच चुना गया. मैक्‍कुलम आईपीएल-8 में सुपर किंग्स के सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज भी हैं. आईपीएल-8 में एकमात्र शतक लगाने वाले मैक्‍कुलम छह मैच की छह पारियों में 232 रन बना चुके हैं.

आईपीएल के इतिहास में रनों के अंतर के लिहाज से यह छठी सबसे बड़ी जीत है, जबकि सुपर किंग्स के लिए सबसे बड़ी जीत. इससे पहले सुपर किंग्स की रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत 93 रनों की थी, जो उन्होंने पिछले साल डेयरडेविल्स के खिलाफ हासिल की थी. आईपीएल के इतिहास में रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत कोलकाता नाइट राइडर्स के नाम है. नाइट राइडर्स ने पहले संस्करण में ही 18 अप्रैल, 2008 को बेंगलुरु में हुए मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 140 रनों से हराकर यह उपलब्धि हासिल की थी.

बड़े लक्ष्य का दबाव किंग्स इलेवन पर शुरू से दिखाई दिया और उनके दिग्गज बल्लेबाज विरेंद्र सहवाग पहले ही ओवर में मात्र एक रन के निजी योग पर पवेलियन लौट गए. ईश्वर पांडेय ने सहवाग को फाफ डू प्लेसिस के हाथों कैच आउट करवाया. इसके बाद मुरली विजय (34), शॉन मार्श (10) के साथ दूसरे विकेट के लिए 31 रनों की साझेदारी ही निभा सके थे कि आशीष नेहरा की गेंद पर पगबाधा हो मार्श भी पवेलियन लौट गए. किंग्स इलेवन की यह सबसे बड़ी साझेदारी रही.

मार्श के जाने के बाद किंग्स इलेवन के विकेटों के गिरने का जो सिलसिला शुरू हुआ वह अंत तक जारी रहा और इसके कारण उनकी रन गति बुरी तरह प्रभावित हुई. पांचवें ओवर के बाद से 13वें ओवर के बीच के आठ ओवरों में किंग्स इलेवन सिर्फ 37 रन जोड़ सके और छह विकेट गंवाए. अंतत: किंग्स इलेवन टीम 100 रन का आंकड़ा भी पार नहीं कर सकी.

किंग्स इलेवन की ओर सिर्फ दो छक्के लगे. एक छक्का सलामी बल्लेबाज मुरली ने जबकि दूसरा अक्षर पटेल ने लगाया. बाउंड्री भी सिर्फ दो ही बल्लेबाज मार सके. मुरली ने चार चौके जबकि मार्श ने एक चौका लगाया. सुपर किंग्स के लिए ईश्वर पांडेय को छोड़ सभी गेंदबाजों ने बेहद कसी हुई गेंदबाजी की. रवींद्र जडेजा ने सर्वाधिक तीन, जबकि नेहरा और रविचंद्रन अश्विन ने दो-दो विकेट हासिल किए. मोहित शर्मा ने भी बेहद कसी हुई गेंदबाजी करते हुए एक विकेट भी हासिल किया.

नेहरा के आईपीएल-8 में कुल 12 विकेट हो गए और वह सर्वाधिक 13 विकेट लेने वाले डेयरडेविल्स इमरान ताहिर से सिर्फ एक विकेट पीछे रह गए हैं. इससे पहले, टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरे किंग्स ने ड्वायन स्मिथ (26) और ब्रेंडन मैक्‍कुलम (66) के बीच मात्र 28 गेंदों में 50 रनों की साझेदारी के साथ तेज शुरुआत की.

13 गेंदों में तीन चौका और दो छक्का लगा चुके बेहद आक्रामक नजर आ रहे स्मिथ को अनुरीत सिंह ने क्लीन बोल्ड कर पांचवें ओवर की चौथी गेंद पर किंग्स इलेवन को पहली सफलता दिलाई. स्मिथ के जाने का हालांकि सुपर किंग्स पर कोई असर नहीं पड़ा. सुरेश रैना (29) ने भी मैक्‍कुलम के साथ दूसरे विकेट के लिए 66 रन जोड़ डाले और टीम 11वें ओवर में ही 100 रन का आंकड़ा पार कर गई. मैक्‍कुलम 44 गेंदों में आठ चौका, तीन छक्का लगाकर 13वें ओवर की पहली गेंद पर जॉर्ज बेले के हाथों कैच आउट हुए। अक्षर पटेल ने उनका विकेट हासिल किया.

रैना इसके बाद मैदान पर आए कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 41) के साथ अभी 28 रन ही जोड़ पाए थे कि 144 के कुल योग पर वह रन आउट हो गए. इसके बाद धोनी ने रवींद्र जडेजा (नाबाद 18) के साथ 26 गेंदों में 47 रनों की तेज नाबाद साझेदारी कर टीम को 192 रनों के चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचा दिया. धोनी ने 27 गेंदों का सामना कर दो चौके और दो छक्का लगाया.