नई दिल्ली. नागपुर पिच को लेकर जारी विवाद अब सोशल मीडिया पर भी अपना रंग दिखाने लगा है. आईसीसी की ओर से इसे ‘खराब’ कहे जाने के बाद से ही विदेशी खिलाड़ी भी इस पर लगातार कमेंट कर रहे हैं. इसी दौरान ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज रॉडनी हॉग ने ट्विटर पर एक विवादित ट्वीट किया जिसका स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने उसी अंदाज़ में जवाब दिया है. 
 
दरअसल आईसीसी द्वारा रैंकिंग में अश्विन के करियर बेस्ट प्रदर्शन को लेकर ट्वीट करने के बाद हॉग को कुछ अच्छा नहीं लगा और उन्होंने आईसीसी बीसीसीआई और अश्विन को टैग करके ट्वीट कर दिया-
 
‘अश्विन, जरा आईने में देखिए और अपने आप से पूछिए कि क्या हाल ही के विकेट कुछ ज्यादा ही स्पिन फ्रेंडली नहीं थे.’
  
अश्विन ने हॉग को ही दिखा दिया आईना
वास्तव में हॉग यह बताना चाहते थे कि अश्विन को हाल ही की सीरीज में इतनी बड़ी सफलता स्पिन पिच के कारण मिली है. फिर क्या था दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में अभी तक 24 विकेट ले चुके अश्विन भड़क गए और उन्होंने हॉग को ही आईना दिखा दिया.
 
अश्विन ने मंगलवार को ट्वीट करके जवाब दिया, ‘सही कहा आपने, लेकिन आइए चीजों को एक ही आईने से देखते हैं या फिर मैं दो अलग-अलग आईनों का ऑर्डर दूं?”
  
टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर अश्विन ने भी हॉग, आईसीसी और बीसीसीआई को टैग करते हुए अपना करारा जवाब दिया. उन्होंने इशारों में ही ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज को सबक सिखा दिया कि किस प्रकार से उनके देश के खिलाड़ी दोहरा मापदंड रखते हैं, क्योंकि विदेशों में अपनी स्ट्रेंथ को देखते हुए हमेशा तेज गेंदबाजों के मददगार विकेट बनाए जाते हैं और फिर हमारे बल्लेबाजों का मजाक उड़ाया जाता है.
 
इस बीच लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने भी पिच विवाद पर कहा है कि पिच से ज्यादा दक्षिण अफ्रीका को अपने बल्लेबाजों की खराब तकनीक के कारण मैच हारने पड़े. पूर्व टेस्ट क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने भी ट्वीट करके अश्विन से उनके प्रदर्शन का श्रेय नहीं छीनने की अपील की और कहा कि यही बात बल्लेबाजों पर भी लागू होती है, जब वे किसी फ्लैट विकेट पर शतक या दोहरा शतक जड़ते हैं. तब क्या कोई गेंदबाज यह कहता है कि आईने में देखो कि कैसे विकेट पर बैटिंग की है. दोहरा मापदंड क्यों. चोपड़ा ने कहा परिस्थितियां सबके लिए एक जैसी थीं. इन मैचों में पांच स्पिनर खेल रहे थे, लेकिन अश्विन को ही 24 विकेट मिले, अन्य को क्यों नहीं. हमें अश्विन की सफलता से ईर्ष्या क्यों हो रही है.