नई दिल्ली: डेरे में सारे सुविधाओं का भोग करने वाला राम रहीम को जेल रास नहीं आ रहा. 20 दिन के अंदर ही रेपिस्ट राम रहीम सूख के कांटा हो गया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक इन बीस दिनों में राम रहीम की सेहत गिरती जा रही है.
 
ऐसा क्यों हो रहा है, क्यों राम रहीम जेल में बड़बड़ाने लगा है. क्यो खाने की थाली को बिना खाए छोड़ दे रहा है. ये सब राम रहीम के समर्थकों को हैरान कर रहा है. लेकिन इसके पीछे एक बड़ी वजह है, क्या है वो इसी का खुलासा हम करने जा रहे है.  
 
जेल की सलाखों के पीछे राम रहीम को वो सब नहीं मिल रहा है जिसका वह आदी था. जेल में राम रहीम को रोटी दाल सब्जी से ज्यादा कुछ नहीं मिल रहा है जबकि 20 दिन पहले तक राम रहीम की थाली, लजीज खाने के साथ साथ कई तरह की भस्म होती थी.
 
उसमें उसके पीछे उसकी सिर्फ एक ही सोच रहती थी कि कैसे वो अपनी मर्दाना ताकत को ज्यादा से ज्यादा बढा सकता है. अच्छे खासे इंसान की हालत पतली कर देती है जेल. सलाखों के पीछे अपने गुनाहो को याद कर कर के अधमरा हो जाता है इंसान पल पल उसे अपनी जिंदगी के वो पल याद आते है जो वो जेल की सलाखों से पहले जीकर आता है.
 
राम रहीम के साथ भी यहीं  हो रहा है, राम रहीम ने बादशाहों जैसी जिंदगी जी है. साल 1990 में राम रहीम ने डेरे की कमान संभाली थी. और अभी चल रहा है साल 2017 यानि पूरे 27 साल राम रहीम ने जो चाहा वो किया. अय्याशी में आंकठ तक डूबा रहा. दो साध्वियों के रेप केस में राम रहीम फंसा है लेकिन इस अय्याश राम रहीम ने अपने डेरे में है.
 
सैकड़ो लडकियों की इज्जत को तार-तार किया है. राम रहीम को चौबीसों घंटे सुंदर लडकियों से घिरे रहने की आदत थी. लेकिन अब जेल में उसकी आंखे पथरा गई है. चौबीसो घंटे, उसे हत्या लूट और डकैती के मुजरिम नजर आते है.
 
राम रहीम का ये सबसे बड़ा फ्रस्टेशन है. जो उसे पागल कर रहा है. अपने डेरे में सेवन स्टार्स सुविधाओं से लैस महल बनवा रखे थे राम रहीम ने इन महलों में सोने के सिंहासन वाली कुर्सिया आलीशान बेड पर राते गुजारता था राम रहीम लेकिन अब सीमेंट का फर्श और फर्श पर बिस्तर के नाम पर एक चादर और कंबल में कट रही है जिंदगी है.