लखनऊ: उत्तर प्रदेश में चुनाव का अगर कोई मुख्य रणनीतिकार रहा है तो वो रहे हैं अमित शाह, लेकिन उनके लेफ्टिनेंट के तौर पर काम करने का मौका मिला केशव प्रसाद मौर्य को. मौर्य ने ये साबित कर दिया कि उनको अध्यक्ष बनाने बीजेपी के लिए कितना फायदेमंद रहा. सवा तीन सौ से ज्यादा सीटें बीजेपी गठबंधन को यूपी में मिली. केशव प्रसाद मौर्य अब प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री बन चुके हैं. केशव प्रसाद मौर्य से बात कीं इंडिया न्यूज के एडिटर-इन-चीफ दीपक चौरसिया ने.
 
‘जनता के हित के लिए होता है काम’
राज्य में पिछले काफी सालों से सपा-बसपा की सरकारें रही हैं. इन सरकारों में काम कम होता था, भ्रष्टाचार ज्यादा होता था. कैसे राजनीतिक हितों की रक्षा की जा सकती थी इसका ध्यान रहता था. जनता के हितों की रक्षा कैसे की जाए, इसका ध्यान नहीं रहता था. योगी सरकार में जनता के हितों के लिए काम हो, इस बात के लिए निर्णय लिए जाते हैं. न सिर्फ निर्णय लिए जाते हैं, बल्कि उन्हें पूरा कैसे हो उस बात का ध्यान रखा जाता है. बीजेपी सरकार मुसलमानों में पिछड़ों और मुस्लिम महिलाओं के विकास के लिए काम करेंगे.
 
‘BJP जातिवाद नहीं विकासवाद के राह पर’
बीजेपी जातिवाद करने वाली पार्टी नहीं है. पार्टी में किसी को भी किसी रुप में काम करने का मौका मिलता है तो पार्टी उसको अवसर दे रही है आप अपने आप को साबित करो. जनता की सेवा करके दिखाओ. पार्टी का एक ही एजेंडा है केवल विकास और उसी राह पर सब काम करते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के विकास के लिए दिन-रात काम करते हैं. योगी सरकार ने संसाधनों के अभाव के बावजूद किसानों की कर्ज माफी का बड़ा फैसला लिया.
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)