नई दिल्ली: 8 नवंबर को मोदी सरकार ने 500 और 1000 के नोट बंद करने की घोषणा की. इसके बाद से ही बैंकों में कैश की भारी किल्लत है. ATM से पैसे निकालने के लिए लोगों की लंबी कतारें लगी हैं.
 
अब नोटबंदी के 23 दिन बीत चुके हैं. इसके बाद भी ज्यादातर बैंकों में करेंसी की किल्लत है. आज से नौकरीपेशा लोगों के खाते में वेतन पहुंचना शुरू हो गया है. 1 तारीख को केंद्र सरकार के ज्यादातर कर्मचारियों को सैलेरी मिलती है.
 
मल्टीनेशनल और सरकारी-गैर सरकारी कंपनियों के कर्मचारियों को भी पहली से लेकर 7 तारीख के बीच ही वेतन मिलता है. वेतन मिलते ही घर-परिवार के रूटीन खर्चों के लिए पैसों की ज़रूरत होती है.
 
लेकिन इस नोटबंदी के बाद सबसे बड़ा सवाल यही है कि दिसंबर की पहली तारीख से पहले हफ्ते के बीच क्या होगा? क्या बैंकों में लोगों को ज़रूरत भर का पैसा मिल पाएगा..? फिलहाल बैंकों में कैश की भारी कमी है. ऐसे में बैंकों और आम लोगों के लिए सबसे मुश्किल घड़ी है.
वीडियो में देखें पूरा शो-