नई दिल्ली. आजकल नेताओं के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर करने के लिए लोगों ने स्याही फेंकना शुरू कर दिया है. इसके शिकार आज दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी हो गए. हालांकि स्याही गिरोह के शिकार होने वाले ज्यादार नेता आम आदमी पार्टी के ही हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
हालांकि स्याही फेंक गिरोह के शिकार केवल मनीष सिसोदिया ही नहीं हुए हैं, बल्कि इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, बीजेपी के पूर्व सलाहकार सुधींद्र कुलकर्णी, आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता योगेंद्र यादव, आप नेता सोमनाथ भारती, सुब्रत रॉय और जेपी नड्डा भी स्याही फेंक गिरोह के शिकार हो चुके हैं.
 
1. योगेंद्र यादव- साल 2014 में आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता योगेंद्र यादव पर आप के एक कार्यकर्ता ने ही स्याही फेंकी थी. स्याही उस वक्त फेंकी गई थी जब यादव जंतर-मंतर पर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौक पर आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे.
 
2. सोमनाथ भारती- 2015 में  किसान गजेंद्र सुसाइड का विरोध कर (आप) के पूर्व कार्यकर्ताओं द्वारा बनाई गई ‘आम आदमी सेना’ के लोगों ने सोमनाथ भारती पर स्याही फेंका था. सोमनाथ का इसलिए विरोध हो रहा था क्योंकि उन्होंने गजेंद्र की आत्महत्या को साजिश बताया था.
 
3. अरविंद केजरीवाल. इसी साल दिल्ली में ऑड ईवन पर धन्यवाद कार्यक्रम के दौरान अरविंद केजरीवाल पर एक महिला ने स्याही फेंकी थी. महिला को गिरफ्तार भी कर लिया गया था. महिला ने खुद को आम आदमी सेना के पंजाब यूनिट का प्रभारी बताया था.
 
जानिये क्यों फेंकी गयी दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर स्याही
 
हालांकि इस सूची में केवल आप नेताओं का नाम ही नहीं हैं बल्कि और भी बड़े-बड़े लोग इसके शिकार हो चुके हैं.
 
1. सुब्रत रॉय- निवेशकों के 20 हजार करोड़ रुपए नहीं लौटाए जाने के मामले की सुनवाई से पहले सुब्रत रॉय पर एक शख्स ने स्याही फेंकी थी, हालांकि उसके बाद सुब्रत रॉय के समर्थकों ने उसकी पिटाई भी की थी.
 
2. सुधींद्र कुलकर्णी- 2015 में  पाकिस्तान के पू्र्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की पुस्तक के विमाचन का कार्यक्रम रद्द करने से इनकार पर बीजेपी के पूर्व सलाहकार सुधींद्र कुलकर्णी के चेहरे पर स्याही पोती गई थी. स्याही शिवसेना के कार्यक्रताओं ने फेंकी थी. शिवसेना ने कसूरे के पुस्तक का काफी विरोध किया था.
 
3. जेपी नड्डा- एम्स भोपाल में खराब सुविधाओं के खिलाफ छात्रों के प्रदर्शन के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जेपी नड्डा पर बिते शनिवार को स्याही फेंकी गई. स्याही एम्स के प्रवेशद्वार पर उस वक्त फेंकी गई जब वह कार पर बैठ कर वहां से रवाना हो रहे थे.