नई दिल्ली. अपनी दबंगई से दुनिया को डराने वाले चीन के लिए सबसे बड़ा चक्रव्यूह तैयार हो गया है. अब चीन की चौखट पर भारत और अमेरिका ने एक ऐसा ऑपरेशन चलाया है. जो उसकी बोलती बंद कर देगा. लद्दाख और अरुणाचल से लेकर साउथ चाइना सी तक चीन की दादागीरी से पूरी दुनिया परेशान है लेकिन पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा के इस ज्वाइंट ऑपरेशन से अब चीन की चिंता दोगुनी हो गई है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
भारत अमेरिका के सैनिकों के अच्छे ऐक्शन शॉट्स के साथ रानीखेत से आए अच्छे शॉट्स मिक्स करें. हिन्दुस्तान की सरहद पर चालबाजी करने वाला चीन अब चारों तरफ से घिर गया है. साउथ चाइना सी पर दादागीरी करने वाला ड्रैगन अब खुद पनाह मांग रहा है. वजह है पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा की वो चाल जो चीन के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन गई है.
 
चीन को चित करने के लिए भारत और अमेरिका ने अब उसी की चौखट पर सबसे बड़े ऑपरेशन का आगाज कर दिया है. क्या है ऑपरेशन 450 और कहां शुरू हुआ है ये ऑपरेशन बताएंगे पर उससे पहले आपको भारत और अमेरिका की संयुक्त ताकत का वो जलवा देखिए.जिसने चीन से लेकर पाकिस्तान तक सबसे होश उड़ा दिए हैं.
 
राजस्थान की मरूभूमि में जब भारत और अमेरिका के सैनिक दस्तों ने अपना पराक्रम दिखाया तो सबने दांतो तले उंगली दबा ली सेना की व्हीकल से उतरकर आगे बढ़ती ये रोबोटनुमा मशीन आसमान से रस्सियों के सहारे नीचे उतरते जांबाज सैनिक सेना की जीप और बख्तरबंद टैंक.
 
इस बियाबान रेगिस्तान में हिन्दुस्तान और अमेरिकी सैनिकों के पराक्रम की ये तस्वीरें ऑपरेशन डेजर्ट लार्क की हैं. देखिये हथियारबंद ये सैनिक इस मकान की घेराबंदी कर कैसे उसमें दाखिल होते हैं और कुछ ही मिनटों में इस आतंकी को अपनी गिरफ्त में ले लेते है. अब दुश्मन के ठिकाने की ओर बढ़ते इन बख्तरबंद टैंकों को देखिए.
 
जो फायरिंग करते हुए गुजर रहे हैं.. उसके बाद कुछ हथियारबंद सैनिक रेगिस्तान में दौड़ते हुए.. वहां बनी सुरंग पार करके तेजी से अपने मोर्चे पर पहुंचते हैं यहां देखिए टार्गेट पर फायरिंग करते सेना के ये जवान और ये है डिमोलिशन रेंज.जहां टार्गेट को उड़ाने की ट्रेनिंग चल रही है.