Hindi special-coverage हिन्दुस्तान, मेक इन इंडिया, बैटल टैंक अबराम, चीन, पाकिस्तान, भारत, India, Battle Tanks AbRam, China, pakistan http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/Prakram.gif

PM मोदी के 'पराक्रम' से उड़ी चीन और पाकिस्तान की नींद

PM मोदी के 'पराक्रम' से उड़ी चीन और पाकिस्तान की नींद

    |
  • Updated
  • :
  • Saturday, August 27, 2016 - 23:56

PM Modi's Prakarm leaves China and Pakistan restless

PM मोदी के 'पराक्रम' से उड़ी चीन और पाकिस्तान की नींदPM Modi's Prakarm leaves China and Pakistan restlessSaturday, August 27, 2016 - 23:56+05:30

नई दिल्ली. बीते करीब ढाई साल में हिन्दुस्तान ने सैन्य ताकत के मामले में कई मुल्कों को पीछे छोड़ दिया है. हिन्दुस्तान मेक इन इंडिया के तहत ऐसे ऐसे हथियार बना रहा है कि दुनिया देखकर हैरान है लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना हिन्दुस्तान को इतना ताकतवर बना देने का है कि दुश्मन हमारी तरफ आंख उठाकर भी ना देख सके.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
ऐसा करने के लिए ज़रूरी हैं कुछ ऐसे हथियारों का भारत आना जो दुनिया के सबसे बेहतरीन हथियारों में से एक हैं. ऐसे ही हथियारों में से एक है अमेरिका का घातक बैटल टैंक अबराम.
 
अबराम के बाद पीएम मोदी की कमान में दूसरा सबसे खतरनाक तीर है हॉवित्ज़र. हॉवित्ज़र इंडिया की नई तोप है. इस तोप ने चीन-पाकिस्तान में खलबली मचा दी है. इस तोप की वजह से हिन्दुस्तान की सैन्य ताकत में गजब का इजाफा होने जा रहा है. मोदी का ये दूसरा महानायक हॉवित्ज़र अमेरिका से जल्द आ रहा है.
 
भारत को दुनिया का सबसे ताकतवर मुल्क बनाना पीएम मोदी का सपना है और पीएम मोदी ने अपने इस सपने को पूरा करने के लिए पूरी ताकत लगा दी है. जमीन से लेकर आसमान और समंदर की सरहद तक पीएम मोदी ने ऐसे इंतजाम किये हैं कि अब दुश्मन हिन्दुस्तान की तरफ आंख उठाकर नहीं देख पायेगा. 
 
वीडियो पर क्लिक कर देखिए पूरा शो

First Published | Saturday, August 27, 2016 - 23:39
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.