नई दिल्ली. इस PSLV की लागता अन्य अंतरिक्ष एजेंसियों की तुलना में 10 गुना कम है. इसरो अब तक लगभग 20 देशों के 57 उपग्रहों को लॉन्च कर चुका है. इसरो ने लांचिंग के जरिए 10 करोड़ अमेरिकी डॉलर यानि लगभग 6500 करोड़ रुपए कमाए हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
भारत में मंगलयान सिर्फ 450 करोड़ रुपए में बना दिया जबकि हॉलीवुड फिल्म ग्रेविटी 600 करोड़ की लागत से बनी. इसरो अब उपग्रह की अंतरिक्ष में लांचिंग सिर्फ 200 करोड़ में करा देता है.
 
विदेशी कंपनियां उपग्रह लांच करने के 500 करोड़ वसूलती हैं. पूरी दुनिया में हिन्दुस्तान सबसे कम कीमत में उपग्रह लांच करता है. इसरो के कॉमर्शियल विंग का टर्नओवर 13 अरब रुपए हो गया है. इंडिया न्यूज के शो ‘पराक्रम’ में देखिए अंतरिक्ष में जन-गण-मन