नई दिल्ली. थोड़ी ज्यादा गर्मी पड़ने पर जहां हम लोगों के पसीने छूटने लगते हैं, वहीं बीकानेर बॉर्डर पर बीएसएफ के जवान कड़कती धूप में भी रोज पराक्रम दिखाते हैं. ये जवान 56 डिग्री तापमान में भी सरहद की हिफाजत करते हैं, इनकी निगाहें कड़कती धूप में भी दुश्मनों पर ही टिकी रहती है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
भारत की 15 हजार किलोमीटर लंबी सरहद पाकिस्तान से सटी है, वहां पुरुषों के साथ-साथ महिलाएं भी कंधे से कंधा मिलाकर देश की रक्षा करती हैं. ये जवान पेट्रोलिंग ऊंट पर सवार होकर करते हैं. भारत और पाकिस्तान से की 5800 किलोमीटर लंबी अंतर्राष्ट्रीय सीमा राजस्थान और गुजरात गुजरती है. राजस्थान के बीकानेर को क्रॉस करते इस बॉर्डर में तैनात जवानों की जान को हमेशा खतरा रहता है, लेकिन फिर भी यह देश की सुरक्षा के लिए हमेशा तैयार रहते हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
 
सरहद की रखवाली करने वाले बीएसएफ के जवानों को जितना दुश्मनों से खतरा होता है, उतना ही खतरा सांप-बिच्छुओं से भी होता है. धूप तो हमेशा सिर पर तपती रहती है. तेज गर्मी में भी ये जवान हिम्मत नहीं हारते हैं और मुंह पर कॉटन का कपड़ा लपेटकर धूप में गश्त करते हैं.
 
इंडिया न्यूज़ के खास कार्यक्रम ‘पराक्रम’ में देखिए बीकानेर में तैनात जवानों की कहानी.