नई दिल्ली. कैलिफोर्निया, न्यूयॉर्क, लंदन दुनिया के ये वो शहर हैं जिनके आगे ना तो दिल्ली टिकती है ना मुंबई, ना बेंगलूरु और ना ही हिंदुस्तान की दूसरी कोई मेट्रो सिटी, लेकिन आने वाले कुछ ही सालों में भारत में ऐसे शहर बनने वाले हैं, जिनके आगे ना तो लंदन टिकेगा, ना कैलिफोर्निया और ना ही न्यूयॉर्क. क्योंकि भारत में स्मार्ट सिटी बनाने की शुरुआत हो चुकी है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
25 जुन को पुणे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का शुभारंभ किया था, जिसके तहत साल 2020 तक 100 शहरों को स्मार्ट सिटी में बदलने का काम किया जाएगा. पहले चरण में 20 शहरों में स्मार्ट सिटी योजना लागू की गई है. इस पूरे प्रोजेक्ट पर करीब 48 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
 
इन सभी स्मार्ट सिटीज में 100 फीसदी घरों को 100mbps स्पीड वाला वाईफाई दिया जाएगा. हर 15 हजार लोगों पर स्मार्ट सिटी में डिस्पेंसरी की सुविधा उपलब्ध होगी. स्मार्ट सिटी में हर सवा लाख आबादी पर एक कॉलेज खोला जाएगा. 10 लाख की आबादी पर यूनिवर्सिटी, इंजीनियरिंग कॉलेज बनाए जाएंगे. साल 2020 तक भारत के 100 शहर लंदन, कैलिफोर्निया और न्यूयॉर्क जैसे दिखने लगेंगे.
 
इंडिया न्यूज़ के खास कार्यक्रम EXCLUSIVE REPORT में देखिए भारत की स्मार्ट सिटी योजना.