नई दिल्ली. सुब्रमण्यम स्वामी, भारतीय राजनीति में एक ऐसा नाम जिससे नज़रें टेढी करने का खतरा कोई मोल नहीं लेना चाहता. उनके विरोधी उन्हें विवादों का स्वामी कहते हैं तो उनके करीबी उन्हें वन मैन ऑर्मी. जो अकेले दम पर विरोधियों की न सिर्फ नाक में दम कर देता है बल्कि पटखनी भी दे देता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सुब्रमण्यम स्वामी भारतीय राजनीति के अकेले ऐसे चेहरे हैं जो लीक से हटकर है. स्वामी अमेरिका से अर्थशास्त्र में पीएचडी हैं लेकिन वकालत की पढ़ाई किए बिना ही देश के बड़े-बड़े केसों की वकालत कर चुके हैं. बीजेपी की 1999 में 13 महीने की सरकार गिरा चुके हैं और आज बीजेपी के राज्यसभा सांसद हैं. 
 
स्वामी की शिकार भारतीय राजनीति की दिग्गज से दिग्गज शख्सियतें होती रही हैं. वो शुरुआत से ही आरएसएस से जुड़े रहे हैं लेकिन एक लंबे समय तक वो समाजवादी नेता चंद्रशेखर को अपना नेता मानते रहे. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को वो अपना अच्छा दोस्त बताते रहे हैं लेकिन उनकी पत्नी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी उनकी सबसे बड़ी राजनीतिक दुश्मन हैं.
 
2G घोटाला, कोयला घोटाला, नेशनल हेरल्ड घोटाला यूं तो सुब्रमण्यम स्वामी मनमोहन सिंह के जमाने से ही कांग्रेस की जड़े खोद रहे हैं. लेकिन कांग्रेस के सत्ता से बाहर होने के बाद भी वो चैन से नहीं बैठे हैं. स्वामी ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घूसकांड मामले को लेकर सीधे सोनिया गांधी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इंडिया न्यूज के खास शो ‘इस हफ्ते’ में जानिए कौन हैं सुब्रमण्यम स्वामी और कैसे उन्होंने राजनीति में हड़कंप मचाया हुआ है.
 
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो