नई दिल्ली. हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया था, लेकिन चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आता. इतिहास गवाह है कि हर बार चीन ने हिंदुस्तान की पीठ में छूरा ही भोंका है, लेकिन इस बार हिंदुस्तान न सिर्फ सावधान है बल्कि ड्रैगन की साजिशों के मुंह पर करारा तमाचा जड़ने के लिए भी तैयार है. चीन अब जमीन की लड़ाई के साथ साथ पानी के जरिए भी हिंदुस्तान पर हमले की साजिशें रच रहा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
ये ब्रह्मपुत्र नदी है… जिसे हिंदुस्तान के पूर्वोत्तर राज्यों की जीवन रेखा कही जाती है… चीन ने इसी ब्रह्मपुत्र नदी पर रची है ऐसी साज़िश जिसकी वो पिछले 10 साल से तैयारी कर रहा था…लेकिन पीएम मोदी के निर्देश पर हिंदुस्तान की सेनाओं ने इसी ब्रह्मपुत्र के सीने पर दिखाया ऐसा पराक्रम जिसे देखकर चीन के पसीने छूट रहे हैं. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
हिंदुस्तान की सबसे चौड़ी नदी ब्रह्मपुत्र का ये उफनता पानी पूर्वोत्तर राज्यों के लिए जीवन भी है और सबसे बड़ा खतरा भी.ब्रह्मपुत्र नदी को चीन में यारलुंग जांगबो के नाम से जाना जाता है.ब्रह्मपुत्र नदी तिब्बत से भारत में आती है और तिब्बत पर कब्जे को लेकर चीन हमेशा से रचता है साज़िशें…इस बार उसने हिंदुस्तान की सीमा के बेहद करीब बना लिया है ब्रह्मपुत्र नदी पर दुनिया का सबसे ऊंचा डैम यानि बांध… ये है चीन के उस जांगूम हाइड्रो पावर स्टेशन की तस्वीरें जो हिंदुस्तान के लिए एक बड़ा खतरा हैं…. ये कैसे बड़ा खतरा है ? इंडिया न्यूज के शो पराक्रम में देखिए मोदी का मिशन ‘ड्रैगन डेड’.