नई दिल्ली. दुनिया में बड़े बड़े साम्राज्या होकर खत्म हो गए हैं, इतिहास गवाह है कि बिना खजाने कभी कोई साम्राज्य खड़ा नहीं हो पाया है. दुनिया में जितने भी बादशाह हुए हैं, सभी के पास अपने अपने छोटे बडे़ खजाने थे. लेकिन दुनिया भर के वैज्ञानिक और रिसर्चर तलाश कर रहे हैं एक ऐसा खजाना जो दुनिया का सबसे बड़ा खजाना है. एक ऐसा खजाना जिसका नक्शा तक मौजूद है, लेकिन फिर भी वो है कि मिलता ही नहीं.

कहा जाता है कि इजराइल के कुमरान में दुनिया का सबसे बड़ा खजाना मौजूद है. साल 1947 में जब हिंदुस्तान आजाद हो रहा था, ठीक उसी वक्त कुमरान के पहाड़ों में पुरातत्ववेता खोज में जुटे थे. लगभग नौ सालों की कड़ी मेहनत के बाद पुरात्त्ववेताओं को गुफाओं के अंदर से कुछ पांडुलिपियां मिली, लेकिन सबसे ज्यादा चौंकाया तांबे की प्लेट पर लिखी एक पांडुलिपी ने. वैज्ञानिकों ने इस पांडुलिपी में खजाने के बारे में हीब्रू भाषा में लिखा हुआ था. तब से अब तक उस खजाने को खोजा जा रहा है.
 
वीडियो क्लिक करके देखिए इंडिया न्यूज़ का खास शो ‘नीला चांद’.