नई दिल्ली. क्या एलियन हमारी धरती पर बतौर मेहमान रहते हैं, क्या वो अक्सर यहां आते जाते रहते हैं? अगर हां तो क्या कोई ऐसा देश भी है जो बाकायदा एलियंस से रिश्ते रखता है. जो एलियंस की मौजूदगी को दुनिया से छिपाकर रखता है. इस दुनिया में करोड़ों ऐसे लोग हैं जो इसे सच मानते हैं. जिनका दावा है कि अमेरिका में बाकायदा एक ऐसा इलाका है जहां एलियन से जुड़ा हर राज़ छिपा हैं. उसी खुफिया जगह का नाम है एरिया-51.
 
एरिया 51 में छिपा है एलियन का राज़ ? 
एरिया 51 एक सैन्य हवाई अड्डे का उपनाम है जो पश्चिमी संयुक्त राज्य अमेरिका में नेवादा के दक्षिण में गूम झील के पास अवस्थित है. इस हवाई अड्डे का प्राथमिक उद्देश्य प्रयोगात्मक विमानों तथा हथियार प्रणालियों की जांच और विकास को समर्थन देना है. इतना महत्‍वपूर्ण स्थान होने के बावजूद यह अड्डा, अमेरिकी सरकार के मानचित्रों पर सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित नहीं है. झील के कुछ लोगों का कहना है कि यहां यूएफओ को उतरते व उड़ते देखा गया है. असामान्य घटना की खबरों के साथ साथ अपनी गोपनीय प्रकृति और वर्गीकृत अनुसंधान के साथ अपने निश्चित सम्बन्ध के कारण एरिया 51 आधुनिक यूएफओ और षडयंत्र सिद्धांतों का केंद्र बन गया है. इन सब बातों के आधार पर यह माना जाता है कि शायद एरिया 51 में सच में कोई यूएफओ कभी उतरी थी और वहां सरकार द्वारा छुपकर एलियनों पर परीक्षण किया जा रहा है. 
 
अमेरिकी सरकार दुनिया से क्या छुपा रही है?
एरिया 51 क्या सच में एलियन का परीक्षण केंद्र है या नहीं, और अगर नहीं है तो ऐसा क्या है इस जगह पर जिसे अमेरिकी सरकार सारी दुनिया से छुपा रही है. इन अनसुलझे सवालों के जवाब मिलना अभी बाकी है. हाल ही में अमेरिकी खुफिया एजेंसी फेडरल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टीगेशन यानि FBI की एक गोपनीय फाइल सार्वजनिक हुई जिसमें इस बात का खुलासा किया गया था कि अमेरिकी पुलिस तथा सेना के अधिकारियों ने ऊटा राज्य में 1949 में यूएफओ को नष्ट होते देखा था.
 
इंडिया न्यूज के खास शो ‘नीला चांद‘ में देखिए दूसरे ग्रह के लोगों का एरिया 51 से क्या है संबंध? 
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो