नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने विदेश दौरों के कारण अक्सर चर्चा में रहते हैं. इस कारण संसद से लेकर सड़क तक उनकी खूब आलोचना भी हुई है. नरेंद्र मोदी हाल ही में 97 घंटे में तीन देशों का दौरा कर भारत लौट आए. जबकि इस तरह के दौरों में कम से कम 6 दिन का वक्त लगता है. लेकिन हाल ही एक मीडिया रिपोर्ट में इस बाबत एक दिलचस्प बात सामने आई है.
 
बताया गया है कि पीएम अपने दौरों की अवधि को कम करने के लिए विदेशी होटलों में रुकने की बजाय उड़ान के दौरान एयर इंडिया-वन प्लेन में ही अपनी नींद पूरी करते हैं ताकी ज्यादातर प्रोग्राम सुबह से शेड्यूल किए. इससे वे कम वक्त में ज्यादा लोगों से मुलाकात कर पाए. फ्लाइट में भी पूरे वक्त उन्होंने आराम नहीं किया, बल्कि मीटिंग्स की.
 
 
PM 5 दिन के दौरे में केवल दो दिन होटल में रूके
बीती 30 मार्च से 2 अप्रैल तक मोदी तीन देशों (बेल्जियम, यूएए और सऊदी अरब) के दौरे पर गए थे. 5 दिन के दौरे में उन्होंने टाइम बचाने के लिए दिल्ली से ब्रसेल्स, ब्रसेल्स से वॉशिंगटन और वॉशिंगटन से रियाद के बीच रात को ही एअर इंडिया वन में ट्रैवल किया. इस दौरान वे सिर्फ दो रात ही विदेशी होटलों में रुके. एक वॉशिंगटन और दूसरा रियाद में. सरकार के सीनियर अफसर ने बताया, “पीएम के इस फैसले से ही वे यूएस समेत इन देशों का दौरा 97 घंटे में पूरा कर सके. अगर वे प्लेन में सोकर ट्रैवलिंग का फैसला नहीं करते तो इस दौरे में कम से कम 6 दिन का वक्त लगता.”
 
 
मनमोहन से कितना अलग है मोदी के ट्रैवलिंग का अंदाज
एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मनमोहन सिंह किसी समिट में शामिल होने के लिए सिर्फ एक ही देश का दौरा करते थे और नाइट में ट्रैवल नहीं के बराबर करते थे. वहीं, मोदी ने अपने अफसरों से कहा है कि विदेश दौरों पर रात में ही ट्रैवल कर वक्त बचाया जाए, ताकि दिन में मीटिंग्स शेड्यूल हो सकें और होटलों में गैरजरूरी स्टे नहीं किया जाए. मोदी रात में ट्रैवल के दौरान प्लेन में सोए नहीं, बल्कि अफसरों के साथ ब्रीफिंग करते रहे. अफसरों का दावा है कि इसी वजह से यूपीए के मुकाबले एनडीए सरकार में पीएम के विदेश दौरे छोटे हुए हैं.
 
 
‘PM के पास कभी न खत्म होने वाली ऊर्जा’
एक पीएमओ अधिकारी ने बताया कि पीएम मोदी के पास कभी न खत्म होने वाली ऊर्जा है और वे उसका अधिकतम प्रयोग करने में यकीन रखते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने अबतक के कार्यकाल में 95 दिन विदेश यात्रा पर रहे हैं. डॉ मनमोहन सिंह इतने ही दिनों के कार्यकाल में 72 दिन यात्रा पर रहे थे. पीएम मोदी ने अबतक 40 देशों की यात्रा अपने 20 विदेश दौरों पर की हैं. डॉ सिंह ने इतने ही दिनों में 15 दौरों में 18 देशों की विदेश यात्रा की थी.
 
 
विमान में भी करते हैं अधिकारियों संग बैठक
पीएम मोदी 31 मार्च तड़के वाशिंगटन पहुंचे. बताया यह भी गया है कि पीएम मोदी विमान में भी पूरे समय सोते नहीं हैं. वे अधिकारियों से बैठकों के बारे में बातचीत करते रहते हैं. 2 अप्रैल दोपहर दो बजे पीएम मोदी रियाद पहुंचे. वहां उन्होंने होटल में रात गुजारी और अगले दिन बैठक की. अगले दिन अप्रैल तीन बजे शाम सात बजे उन्होंने दिल्ली के लिए उड़ान भरी और तड़के 2 बजे रेस कोर्स पहुंच गए. पांच बजे उन्हें फिर बैठक लेनी थी.